Current Affairs Hindi – July 1 2019

हैलो दोस्तों, www.affairscloud.com में आपका स्वागत है। हम यहां आपके लिए 1 जुलाई,2019 के महत्वपूर्ण करंट अफेयर्स को विभिन्न अख़बारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, पीआईबी, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडिया टुडे, इंडियन एक्सप्रेस, बिजनेस स्टैंडर्ड,जागरण से चुन करके एक अनूठे रूप में पेश करते हैं। हमारे Current Affairs से आपको बैंकिंग, बीमा, यूपीएससी, एसएससी, सीएलएटी, रेलवे और अन्य सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Click here to Read Current Affairs Today in Hindi – 30 June 2019

INDIAN AFFAIR

विशेष आर्थिक क्षेत्र (संशोधन) विधेयक, 2019 संसद द्वारा पारित किया गया:
संसद ने विशेष आर्थिक क्षेत्र (संशोधन) विधेयक, 2019 पारित किया जो नवगठित 17 वीं लोकसभा द्वारा पारित किया जाने वाला पहला कानून बना। यह विशेष आर्थिक क्षेत्र (संशोधन) अध्यादेश, 2019 की जगह लेगा, जिसे मार्च 2019 में जारी किया गया था और जिसने विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) अधिनियम 2005 में संशोधन किया था।
प्रमुख बिंदु:
i.नया बिल ‘ट्रस्टों’ को शामिल करने के लिए एसईजेड अधिनियम 2005 की धारा 2 (v) के तहत ‘व्यक्ति’ की परिभाषा में संशोधन करता है।
एसईजेड अधिनियम, 2005, ने एसईजेड में इकाइयों को स्थापित करने के लिए ‘ट्रस्ट’ को अनुमति नहीं दी थी।
ii.कानून के अनुसार, एक व्यक्ति, एक हिंदू विभाजित परिवार, एक कंपनी, सहकारी समिति या एक फर्म ‘व्यक्ति’ की परिभाषा में आती है।
iii.31 मार्च, 2019 तक, एसईजेड में निवेश 5 लाख करोड़ रुपये से अधिक था और एसईजेड में रोजगार 20 लाख से अधिक था। एसईजेड से निर्यात 7 लाख करोड़ रुपये से अधिक था।
एसईजेड के बारे में:
एसईजेड देश में विशेष सीमांकन वाले क्षेत्र हैं जिनमें विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) को आकर्षित करने के लिए अलग नियम हैं। ऐसे क्षेत्रों को सीमा शुल्क क्षेत्र के बाहर माना जाता है। वे विनिर्माण को बढ़ावा देने, निर्यात को बढ़ावा देने के साथ-साथ रोजगार पैदा करने के लिए विभिन्न कर प्रोत्साहन के हकदार हैं।

‘वन नेशन वन राशन कार्ड’ योजना 1 जुलाई, 2020 से पूरे देश में उपलब्ध होगी:One Nation One Ration Cardकेंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना ‘वन नेशन वन राशन कार्ड’, जिसके तहत लाभार्थी देश के किसी भी राशन की दुकान से सब्सिडी वाले खाद्यान्न खरीद सकते हैं, 1 जुलाई 2020 से शुरू होगी।
i.समय सीमा: केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को राशन की दुकानों में पॉइंट ऑफ सेल (पीओंएस) मशीनों का उपयोग करने और योजना को पूरा करने के लिए 30 जून, 2020 तक का समय दिया है।
ii.वर्तमान स्थिति: देश भर में 77% राशन दुकानों में पीओंएस मशीनें हैं।
iii.आंध्र प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, राजस्थान, तेलंगाना, और त्रिपुरा ऐसे राज्य हैं जो पहले से ही सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) पात्रता की पोर्टेबिलिटी प्रदान कर रहे हैं।
iv.एनएसए: नवंबर 2016 से, सरकार राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएसए) को लागू कर रही है, जिसके तहत हर महीने 80 करोड़ से अधिक लोगों को 1 से 3 रुपये प्रति किलोग्राम की अत्यधिक रियायती दरों पर खाद्यान्न की आपूर्ति की जाती है।
v.फोर्टीफाइड अन्न: अक्टूबर-नवंबर से 15 राज्यों में प्रत्येक जिले में एक पायलट आधार पर पीडीएस के तहत फोर्टिफाइड चावल का वितरण किया जाएगा।

दूरसंचार मंत्रालय ने दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन की अध्यक्षता में दूरसंचार क्षेत्र के लिए पुनरुद्धार की योजना बनाने के लिए समिति का गठन किया:
28 जून, 2019 को, दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया, जो दूरसंचार क्षेत्र के लिए पुनरुद्धार योजनाओं पर विचार करेगी, जो वित्तीय तनाव में है। यह क्षेत्र में मुद्दों की समीक्षा करेगा और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (ईडीबी) को बढ़ावा देगा।
प्रमुख बिंदु:
i.समिति 2 सप्ताह के समय में रिपोर्ट सौंपेगी।
ii.यह दूरसंचार नियामक भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) द्वारा प्रदान की गई पिछली सिफारिशों पर ध्यान देगी और सॉलिसिटर जनरल से परामर्श करेगी, यदि इसे मुद्दों पर कोई स्पष्टता की आवश्यकता है।
iii.समिति कुल शुल्क, राजस्व और कटौती जैसे मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करेगी, जैसे कि लाइसेंस शुल्क, स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क (एसयूसी) और सार्वभौमिक सकल राजस्व की परिभाषा की समीक्षा के साथ सार्वभौमिक सेवा शुल्क।
iv.सरकार की प्राथमिकता के आधार पर राज्य के स्वामित्व वाली भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल) के लिए एक पुनरुद्धार की योजना भी है।
संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के बारे में:
♦ मुख्यालय: नई दिल्ली
♦ विभाग: दूरसंचार विभाग, डाक विभाग

INTERNATIONAL AFFAIRS

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की जी20 शिखर सम्मेलन 2019 ओसाका, जापान में भाग लेने के लिए की गई जापान यात्रा का अवलोकन:G20 Summit 2019, Osaka, Japanजी20 (ग्रुप ऑफ 20) शिखर सम्मेलन 2019 28-29 जून, 2019 को जापान के ओसाका स्थित अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी केंद्र में आयोजित किया गया था। यह जी20 की 14 वीं बैठक थी। 2018 जी20 शिखर सम्मेलन ब्यूनस आयर्स, अर्जेंटीना में आयोजित किया गया था और 2020 जी20 शिखर सम्मेलन सऊदी अरब के रियाद शहर में आयोजित किया जाएगा।
प्रतिभागी:
-अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मैक्सिको, कोरिया गणराज्य, दक्षिण अफ्रीका गणराज्य, रूस, सऊदी अरब, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय संघ ।
-मेहमानों को अन्य देशों और अंतर्राष्ट्रीय संगठन से आमंत्रित किया गया था जैसे नीदरलैंड, सिंगापुर, स्पेन, वियतनाम, दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संगठन (आसियान) का अध्यक्ष (थाईलैंड), अफ्रीकी संघ (एयू) का अध्यक्ष (मिस्र), एशिया-प्रशांत आर्थिक सहयोग (एपीईसी) का अध्यक्ष चिली, सेनेगल (एनईपीएडी- न्यू पार्टनरशिप फॉर अफ्रीकाज डेवलपमेंट का अध्यक्ष), संयुक्त राष्ट्र (यूएन), अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ), विश्व बैंक, विश्व व्यापार संगठन (डब्लूटीओं), अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओं), वित्तीय स्थिरता बोर्ड (एफएसबी), आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (ओंईसीडी), एशियाई विकास बैंक (एडीबी) और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओं)।

जापान में पीएम मोदी:
27 जून, 2019 को, पीएम नरेंद्र मोदी जी 20 शिखर सम्मेलन 2019 में भाग लेने के लिए ओसाका के कंसाई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे। यह उनका छठा जी 20 शिखर सम्मेलन था। उन्होंने कोबे, जापान में भारतीय समुदाय के सदस्यों से मुलाकात की।

सुरेश प्रभु ने जापान में जी20 शेरपा बैठक में भाग लिया:
जी -20 शिखर सम्मेलन के लिए प्रधान मंत्री के शेरपा सुरेश प्रभु ने जी -20 नेताओं के साथ प्रधान मंत्री की शिखर सम्मेलन की तैयारी के लिए जापान के ओसाका में जी 20 शेरपा बैठक में भाग लिया। वैश्विक मुद्दों पर गहन चर्चा की गई और वैश्विक अच्छाई के लिए भारत की प्राथमिकताओं पर प्रकाश डाला गया।

अहमदाबाद और कोबे ने सिस्टर सिटी पार्टनरशिप के लिए लेटर ऑफ इंटेंट का आदान-प्रदान किया:
जापानी शहर कोबे के अधिकारियों ने एक सिस्टर सिटी पार्टनरशिप के लिए अहमदाबाद, गुजरात में अपने समकक्षों के साथ एक लेटर ऑफ इंटेंट (एलओंआई) का आदान-प्रदान किया। यह दो जीवंत शहरों के साथ-साथ दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों को बढ़ाने में मदद करेगा। नवंबर 2016 में, मोदी और उनके जापानी समकक्ष शिंजो आबे ने गुजरात और ह्योगो के बीच आपसी सहयोग को बढ़ावा देने के लिए गुजरात और ह्योगो प्रान्त के लिए शिक्षाविदों, व्यापार, सांस्कृतिक सहयोग, आपदा प्रबंधन और पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में एक सिस्टर स्टेट संबंध समझौता ज्ञापन किया था।

मोदी, ट्रम्प, अबे ने दूसरी जेएआई की त्रिपक्षीय बैठक आयोजित की:
मोदी, ट्रम्प, अबे ने जापान के ओसाका में दूसरी जापान-अमेरिका-भारत (जेएआई) त्रिपक्षीय वार्ता आयोजित की। पीएम ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और जापानी प्रमुख शिंजो आबे के साथ संपर्क और बुनियादी ढांचे के विकास में सुधार के लिए भारत-प्रशांत क्षेत्र पर चर्चा की।

ब्रिक्स राष्ट्रों के साथ पीएम की बैठक:
-ओसाका में अनौपचारिक ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के नेताओं की बैठक में बोलते हुए, मोदी ने कहा कि आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है और उन्होंने सभी से आतंकवाद और नस्लवाद के समर्थन के सभी माध्यमों को रोकने का आह्वान किया।
-सदस्य देशों में बैलेंस ऑफ़ पेमेंट दबावों को कम करने के लिए एक तंत्र के रूप में ब्रिक्स कांटिनजेंट रिजर्व अरेंजमेंट (सीआरए) के लिए महत्व की मांग की गई थी।
-नवंबर 2019 में ब्रासीलिया में आयोजित होने वाले ब्राजील के ब्रिक्स चेयरशिपइन 2019 और 11 वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के लिए समर्थन व्यक्त किया गया था।

आरआईसी त्रिपक्षीय बैठक:
-जी20 शिखर सम्मेलन के मौके पर रूस-भारत-चीन (आरआईसी) त्रिपक्षीय में, चीन के राष्ट्रपति, शी जिनपिंग ने 3 देशों से पीएम मोदी और रूस के राष्ट्रपति, व्लादिमीर पुतिन की उपस्थिति में 5जी नेटवर्क, उच्च प्रौद्योगिकी, कनेक्टिविटी, ऊर्जा और अन्य क्षेत्रों में सहयोग का विस्तार करने का आग्रह किया।
-रूस, भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की 16 वीं बैठक की संयुक्त विज्ञप्ति में, उन्होंने आतंकवाद की इसके सभी रूपों और अभिव्यक्तियों की कड़ी निंदा की।

‘ओसाका ट्रैक’:
भारत, दक्षिण अफ्रीका और इंडोनेशिया ने ‘डिजिटल अर्थव्यवस्था’ पर ‘ओसाका ट्रैक’ का बहिष्कार किया क्योंकि यह वैश्विक व्यापार वार्ता में सर्वसम्मति-आधारित निर्णयों के ‘बहुपक्षीय’ सिद्धांतों को बहुत कम महत्व देता है, और विकासशील देशों को डिजिटल-औद्योगिकीकरण के लिए ‘पालिसी स्पेस’ से वंचित करता है। ‘ओसाका ट्रैक’ जापान में जी20 शिखर सम्मेलन में लॉन्च किए गए संवर्धित सुरक्षा के साथ सीमा पार डेटा प्रवाह को बढ़ावा देने के लिए एक रूपरेखा है।

अन्य विशेषताएं:
-पीएम मोदी ने भारत के पारंपरिक उपचार उपायों, योग और उनकी प्रमुख आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना के बारे में चर्चा की।
-जी 20 देशों को आपदा सहनशीलता पर वैश्विक गठबंधन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया था, जिसका नाम ‘इंटरनेशनल कोएलिशन ऑन डिजास्टर रिसिलिएंट इन्फ्रास्ट्रक्चर’ है।
-पीएम मोदी ने सामाजिक लाभ के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकी को अधिकतम करने के लिए ओसाका में जी -20 बैठक में 5 आई विजन को रेखांकित किया। 5 आई (5 आई विजन) हैं – इन्क्लूसिवनेस, इंडीजेनीजेशन, इनोवेशन, इन्वेस्टमेंट इन इन्फ्रास्ट्रक्चर और इंटरनेशनल कोऑपरेशन (समावेशिता, स्वदेशीकरण, नवाचार, बुनियादी ढांचे में निवेश और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग)।
-अगले पांच वर्षों में, भारत का लक्ष्य 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनना है और 5 वर्षों में 50,000 स्टार्ट-अप स्थापित करना लक्ष्य है।
-भारत जापान की मदद से मुंबई और अहमदाबाद के बीच अपनी पहली बुलेट ट्रेन चलाने की भी योजना बना रहा है।

प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक:
-पीएम मोदी ने जापानी समकक्ष शिंजो आबे से मुलाकात की, जहां उन्होंने आपसी हितों के मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की। कौशल विकास में सहयोग को मजबूत करने और द्विपक्षीय तकनीकी आदान-प्रदान को बढ़ाने पर चर्चा की गई।
-पीएम ने सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से मुलाकात की और व्यापार और निवेश, ऊर्जा सुरक्षा और आतंकवाद विरोधी विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग को गहरा करने के तरीकों पर चर्चा की।
-पीएम ने दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे-इन से मुलाकात की और व्यापार, आर्थिक और लोगों के बीच संबंधों को बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की। उन्होंने दक्षिण कोरिया की नई दक्षिणी नीति के साथ भारत की एक्ट ईस्ट नीति को समन्वित करने की पारस्परिक इच्छा व्यक्त की।
-उन्होंने जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल से मुलाकात की और भारत-जर्मन संबंधों को गहरा करने और कृत्रिम बुद्धिमत्ता और साइबर सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की।
-भारत और इंडोनेशिया ने 2025 तक द्विपक्षीय व्यापार के लिए एक महत्वाकांक्षी 50 बिलियन डॉलर का लक्ष्य निर्धारित किया क्योंकि पीएम और इंडोनेशिया के राष्ट्रपति, जोको विडोडो ने अर्थव्यवस्था, रक्षा और समुद्री सुरक्षा सहित कई प्रमुख क्षेत्रों में सहयोग को गहरा करने के तरीकों पर चर्चा की।
-पीएम ने ब्राजील के राष्ट्रपति, जेयर बोल्सोनारो से मुलाकात की और जलवायु परिवर्तन के संदर्भ में द्विपक्षीय संबंधों, विशेष रूप से व्यापार और निवेश, कृषि और जैव-ईंधन में सहयोग पर व्यापक चर्चा की।
-उन्होंने तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन से मुलाकात की और आतंकवाद, रक्षा और व्यापार और निवेश पर बातचीत की।
-पीएम ने ऑस्ट्रेलियाई प्रधान मंत्री स्कॉट मॉरिसन के साथ बातचीत की और इंडो-पैसिफिक सहित कई मुद्दों पर चर्चा की।
जापान के बारे में:
♦ राजधानी: टोक्यो
♦ मुद्रा: जापानी येन

स्विस बैंकों में धन के मामले में भारत 1 स्थान नीचे गिर 74 वे स्थान पर आया:74th in terms of money in Swiss Banksस्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) द्वारा संकलित वार्षिक बैंकिंग सांख्यिकी रिपोर्ट के अनुसार, 2018 के अंत तक भारत स्विस बैंकों के साथ इसके नागरिकों द्वारा रखे गए धन के मामले में 74 वें स्थान पर खिसक गया है। अधिकतम धन रखने के साथ, यूके (यूनाइटेड किंगडम) सूची में शीर्ष स्थान पर रहा।
प्रमुख बिंदु:
-2018 में भारत 73 वें स्थान पर था।
-भारत में 2018 में लगभग 6% की गिरावट के साथ 955 मिलियन स्विस फ़्रैंक (लगभग 6,757 करोड़ रूपये) धन दर्ज किया गया जो दो दशकों में दूसरा सबसे निचला स्तर था।
-सूची में शीर्ष क्रम के देशों में यूके, यूएस (संयुक्त राज्य अमेरिका), वेस्ट इंडीज, फ्रांस और हांगकांग हैं।
-भारत को 2015 में 75 वें और 2014 में 61 वें स्थान पर रखा गया था। 2007 तक, स्विस बैंकों में धन रखने के मामले में भारत शीर्ष 50 देशों में शामिल था। वर्ष 2004 में भारत 37 वें स्थान पर अपने सर्वोच्च स्थान पर रहा।
-स्विस बैंकों में दुनिया भर के विदेशी ग्राहकों द्वारा रखा गया कुल धन 2018 में सीएचएफ 4 ट्रिलियन (लगभग 99 लाख करोड़ रुपये) पर 4 प्रतिशत से कम हो गया।
-यूनाइटेड किंगडम में सीएचएफ 372 बिलियन है जो दिसंबर 2018 तक कुल विदेशी फंडों का 26% से अधिक है।
-यूएसए सीएचएफ 144 बिलियन खातों के साथ 10.3% विदेशी निधियों के साथ दूसरे स्थान पर है।
ब्रिक्स राष्ट्रों में भी भारत सबसे निचले स्थान पर था, चीन (22 वें), दक्षिण अफ्रीका (60 वें) ब्राजील (65 वें) के बाद रूस सर्वोच्च (20 वें) स्थान पर है।
-भारत के पड़ोसी राष्ट्र पाकिस्तान (82 वें), बांग्लादेश (89 वें), नेपाल (109 वें), श्रीलंका (141 वें), म्यांमार (187 वें) और भूटान (193 वें) के साथ निचले स्थान पर हैं।
-पिछले चार वर्षों में, यह पहली बार है कि स्विस बैंकों में पाकिस्तान का धन भारतीयों से कम हो गया है।
स्विस नेशनल बैंक के बारे में:
यह स्विट्जरलैंड का केंद्रीय बैंक है, और इसलिए यह स्विट्जरलैंड के राष्ट्र की मौद्रिक नीति के लिए जिम्मेदार है और स्विस फ्रैंक बैंक नोट जारी करने के लिए भी जिम्मेदार है।
मुख्यालय: बर्न और ज्यूरिख
अध्यक्ष: थॉमस जॉर्डन

आईएसए का पहला संयुक्त सुरक्षा अभ्यास ‘इसालेक्स19’ अबू धाबी में आयोजित किया गया:ISALEX1930 जून, 2019 को संयुक्त अरब अमीरात के अबू धाबी में अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा गठबंधन (आईएसए) का संयुक्त सुरक्षा अभ्यास ‘इसालेक्स19’ का पहला संस्करण आयोजित किया गया।
i.उद्देश्य: विभिन्न टीमों की तत्परता का परीक्षण करने और सदस्य देशों के बीच संयुक्त रूप से विकसित किए गए टूल, रणनीतियों और प्रक्रियाओं का मूल्यांकन करने के उद्देश्य से इसका आयोजन किया गया था।
ii.आईएसए: इसे 2017 में अबू धाबी में लॉन्च किया गया था और इसमें नौ देश शामिल हैं, यूएई, फ्रांस, इटैलियन रिपब्लिक, बहरीन, मोरक्को, स्पेन, सेनेगल, सिंगापुर और स्लोवाक रिपब्लिक।
iii.ऑपरेशन: संयुक्त सुरक्षा सहयोग परियोजनाओं के माध्यम से अंतराष्ट्रीय संगठित चरमपंथी अपराधों को रोकना और उनसे मुकाबला करना इसके ऑपरेशन में शामिल है।

भारत मौत की सज़ा पर यूएनजीए में मतदान से दूर रहा:
मृत्युदंड और यातना के लिए इस्तेमाल होने वाले सामानों में व्यापार को समाप्त करने की संभावना का पता लगाने वाले संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के प्रस्ताव से भारत ने खुद को मतदान से दूर रखा।
प्रमुख बिंदु:
i.संयुक्त राष्ट्र के लिए भारत के स्थायी मिशन में प्रथम सचिव पॉलोमी त्रिपाठी ने कहा कि यातना के बराबर मौत की सजा को रखना अस्वीकार्य था।
ii.प्रस्ताव: यूएनजीए (193 सदस्यों) ने ‘यातना-मुक्त व्यापार की ओर: संभव सामान्य अंतर्राष्ट्रीय मानकों के लिए व्यवहार्यता, गुंजाइश और मापदंडों की जांच करना’ प्रस्ताव को अपनाया।
iii.परिणाम: 81 ने पक्ष में मतदान किया, 20 ने विरोध में और 44 ने प्रस्ताव से दूर रहे।
iv.भारत का कथन:
-इस प्रस्ताव के दायरे में मौत की सज़ा को शामिल करना इसे यातना के साथ बराबर रखने की कोशिश करने के बारे में चिंताओं को दर्शाता है।
-यह यातना और अन्य अमानवीय सजा को रोकने की प्रतिबद्धता को बनाए रखता है।
-यातना से मुक्ति एक मानवीय अधिकार है जिसे सभी परिस्थितियों में सम्मान और संरक्षित किया जाना चाहिए।
-अत्याचार एक अपराध है और इसलिए, गैरकानूनी है।
यूएनजीए के बारे में:
अध्यक्ष: मारिया फर्नांडा एस्पिनोसा (73 वां सत्र), तिजानी मुहम्मद-बंदे (सितंबर 2019 से 74 वें सत्र के लिए नामित)
मुख्यालय: न्यूयॉर्क, संयुक्त राज्य अमेरिका

भारत ने रूस के साथ 200 करोड़ रुपये के सौदे पर हस्ताक्षर किए:India signs worth Rs.200 cr deal with Russia30 जून, 2019 को, भारत सरकार ने रूस के साथ, ‘स्ट्रम अटका’ एंटी-टैंक मिसाइलों के अधिग्रहण के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। यह सौदा लगभग 200 करोड़ रूपये का है।
i.यह एमआई -35 हमले के हेलिकॉप्टरों को दुश्मन के टैंक और अन्य बख्तरबंद तत्वों से लड़ने की एक अतिरिक्त क्षमता देगा।
ii.सौदे को आपातकालीन क्लॉज के तहत हस्ताक्षरित किया गया है, जिसके परिणामस्वरूप अनुबंध पर हस्ताक्षर करने के 3 महीने के भीतर मिसाइल पहुंचाई जाएगी।
iii.एमआई-35: ये आईएएफ (भारतीय वायु सेना) के मौजूदा हमले के हेलिकॉप्टर है जिन्हें अमेरिका (संयुक्त राज्य अमेरिका) से अधिग्रहित किए जा रहे अपाचे गनशिप से बदला जाना है।
iv.इससे पहले, आईएएफ ने आपातकालीन प्रावधानों के तहत ‘स्पाइस 2000’ निर्देशित बमों के एक बैच की खरीद के लिए एक इजरायली रक्षा फर्म के साथ 300 करोड़ रुपये के सौदों पर हस्ताक्षर किए। उनका उपयोग बालाकोट हवाई हमलों में किया गया था।

एमजीआईटी-बीपी, भारत-सहायता प्राप्त आईटी- बायोटेक्नोलॉजी पार्क का उद्घाटन कोटे डी’आइवर में हुआ:
27 जून, 2019 को, महात्मा गांधी आईटी एंड बायोटेक्नोलॉजी पार्क (एमजीआईटी-बीपी), जो भारत की सहायता से बनाया गया था, का उद्घाटन ग्रैंड-बेसम में कोटे डी’आइवर, एक पश्चिम अफ्रीकी देश में किया गया था। इसका उद्घाटन कोटे डी’आइवर के लिए भारत के राजदूत, सेलस थंगल और कोटे डी’आइवर के उपराष्ट्रपति, डेनियल कब्लन दुक्कन द्वारा संयुक्त रूप से किया गया था। एमजीआईटी-बीपी महात्मा गांधी की जयंती के 150 वें उत्सव के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।
प्रमुख बिंदु:
i.प्रकृति: यह आईटी और बायोटेक्नोलॉजी के लिए एक समर्पित मुक्त व्यापार क्षेत्र (एफटीजेड) है।
ii.फंड: इसे एक्सिम (एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट) बैंक के लाइंस ऑफ क्रेडिट (एलओंसी) के जरिए 20 मिलियन डॉलर में बनाया गया था।
iii.परियोजना: इसमें 2 भाग शामिल थे- एफटीजेड की इमारतों के लिए वास्तुकला अवधारणा और डिजाइन और आईटी उद्यमों की मेजबानी के लिए मुख्य भवन का निर्माण जो कि भारतीय कांग्लोमरेट कंपनी शापूर्जी पल्लोंजी द्वारा पूरा किया गया था। दूसरे भाग में उपकरण की आपूर्ति और कमीशनिंग शामिल थी जिसमें कंप्यूटर असेंबली प्लांट, सैटेलाइट अर्थ स्टेशन के साथ वीसैट (वेरी स्माल अपर्चर टर्मिनल), नेटवर्किंग लैब, मानव डीएनए (डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक एसिड) लैब, डेटा स्टोरेज एरिया नेटवर्क, एक ऑडियो-विज़ुअल लैब और और एक बिजली जनरेटर शामिल थे, जिसे एक भारतीय कंपनी यूनाइटेड टेलीकॉम लिमिटेड (यूटीएल) द्वारा पूरा किया गया था।
iv.महत्व: यह प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण के क्षेत्र में, देशों के बीच सहयोग और द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करेगा। यह 21 वीं सदी में ज्ञान अर्थव्यवस्था की चुनौतियों का सामना करने के लिए अफ्रीका में भागीदार देशों की क्षमता बनाने के लिए विकास के अनुभव को साझा करने में मदद करेगा।
कोटे डी’आइवर के बारे में:
♦ राजधानी: यमसोउक्रो
♦ मुद्रा: सीएफए फ्रैंक, पश्चिम अफ्रीकी सीएफए फ्रैंक

BANKING & FINANCE

वित्त मंत्रालय 1 जुलाई से चुनावी बांड की 11 वीं श्रृंखला लॉन्च करेगा:Electoral Bondsभारत के वित्त मंत्रालय ने 1 से 10 जुलाई तक चुनावी बांड की 11 वीं श्रृंखला शुरू की है। इस संबंध में, भारत के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (पीएसबी), भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) को अपनी 29 शाखाओं के माध्यम से बिक्री के 11 चरण में चुनावी बॉन्ड जारी करने और उनका प्रचार करने के लिए अधिकृत किया गया है। नई सरकार के गठन के बाद चुनावी बॉन्ड जारी करने का यह पहला मौका है।
चुनावी बांड के बारे में:
राजनीतिक फंडिंग में पारदर्शिता लाने के लिए, चुनावी बॉन्ड राजनीतिक दलों को दिए गए नकद चंदे के विकल्प हैं। ये सरकार द्वारा 2018 में इलेक्टोरल बॉन्ड स्कीम के माध्यम से पेश किए गए थे।
i.पात्रता: चुनावी बांड एक व्यक्ति द्वारा खरीदा जा सकता है, जो भारत का नागरिक है या भारत में शामिल या स्थापित संस्थाएं हैं। इसके अलावा, पंजीकृत राजनीतिक दल जिन्होंने लोकसभा या विधान सभा के पिछले चुनाव में 1% से ज्यादा वोट हासिल किए हैं।
ii.वैधता: चुनावी बांड जारी होने की तारीख से 15 कैलेंडर दिनों के लिए मान्य होंगे और वैधता अवधि की समाप्ति के बाद बांड जमा करने पर किसी भी भुगतानकर्ता राजनीतिक दल को कोई भुगतान नहीं किया जाएगा। एक पात्र राजनीतिक दल द्वारा इसके खाते में जमा किए गए चुनावी बांड को उसी दिन जमा किया जाएगा।
ii.पिछली श्रृंखला: चुनावी बॉन्ड के 1 बैच की बिक्री 1-10 मार्च 2018, दुसरे चरण की 2-10 अप्रैल, तीसरे चरण की 1-10 मई, चौथे चरण की 2-11 जुलाई, पांचवे चरण की 1-10 अक्टूबर, छठे चरण की 1-10 नवंबर, 7 वें चरण की 1-10 जनवरी और 8 वें चरण 1-15 मार्च, 9 वें चरण 1-20 अप्रैल और 10 वें चरण 6-15 मई 2019 के बीच हुई थी।
वित्त मंत्रालय के बारे में:
स्थापना – 1946
मंत्री – निर्मला सीतारमण
राज्य मंत्री – अनुराग सिंह ठाकुर
विभाग – वित्तीय सेवा विभाग, आर्थिक मामलों का विभाग, व्यय विभाग, राजस्व विभाग और निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग

आईएल एंड एफएस बोर्ड ने विनिवेश प्रक्रिया की निगरानी के लिए उप-समिति का गठन किया:
भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से बैड लोन के समाधान के लिए 7 जून के सर्कुलर के आधार पर, कर्ज से प्रभावित इंफ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड अपनी परिसंपत्तियों के विनिवेश की प्रक्रिया की देखरेख के लिए एक उप समिति का गठन कर रहा है। यह निर्णय 28 जून को हुई बोर्ड बैठक के दौरान लिया गया है।
i.छह सदस्यीय समिति में 4 निदेशक होंगे जिसमें विनीत नैय्यर, सी.एस.राजन, बिजय कुमार, एन श्रीनिवासन और सीओओ एन शिवरामन शामिल होंगे। वे ऋणदाताओं के साथ समाधान के परिसंपत्ति-आधारित ढांचे पर चर्चा करेंगे और उसे अंतिम रूप देंगे।
ii.एलआईसी 25% से अधिक हिस्सेदारी के साथ आईएल एंड एफएस का सबसे बड़ा शेयरधारक है जबकि जापान के ओरिक्स कोर्प की 23.54% हिस्सेदारी और अबू धाबी निवेश प्राधिकरण की 12.56% हिस्सेदारी है।
आईएल एंड एफएस के बारे में:
स्थापित: 1987
मुख्यालय: मुंबई
अध्यक्ष – उदय कोटक

AWARDS & RECOGNITIONS

सीएसआर में सर्वोत्तम प्रथाओं की मान्यता में, नाल्को का प्रतिष्ठित राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए चयन किया गया:
ओडिशा स्थित एक नवरत्न कंपनी, द नेशनल एल्युमीनियम कंपनी लिमिटेड (नाल्को) को उत्कृष्ट सीएसआर (कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी) कार्यक्रम के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए चुना गया है। ‘नाल्को की लाडली’ जैसी स्टार रेटिंग योजनाओं को शुरू करने और लागू करने के लिए, केंद्र सरकार के कॉर्पोरेट मामलों के विभाग ने राष्ट्रीय स्तर पर नाल्को का चयन किया है।
प्रमुख बिंदु:
i.नाल्को की लाडली: फ्लैगशिप योजना नीचले तबके से संबंधित गरीब छात्राओं के लिए सीखने और शिक्षा के अवसर प्रदान करती है।
ii.अलियाली झिया: 2015 में, नाल्को ने एक योजना ‘अलियाली झिया’ की शुरुआत की, ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ की तर्ज पर यह बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) परिवारों की लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देती है।
iii.लाभार्थी: वर्तमान में, नाल्को ने 66 गांवों की 416 गरीब छात्राओं को गोद लिया है।

APPOINTMENTS & RESIGNS

एमटीएनएल के अध्यक्ष पी.के.पुरवार ने बीएसएनएल सीएमडी के रूप में अतिरिक्त जिम्मेदारी संभाली:
एमटीएनएल (महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (सीएमडी) पी.के.पुरवार ने 1 जुलाई, 2019 से तीन महीने की अवधि के लिए भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के सीएमडी के रूप में अपने अतिरिक्त पद को स्वीकार किया है।
i.दूरसंचार विभाग ने उन्हें बीएसएनएल का सीएमडी नियुक्त किया है जब तक कि नियमित सीएमडी को पद पर नियुक्त नहीं किया जाता।
ii.उन्होंने अनुपम श्रीवास्तव का स्थान लिया है जिन्होंने 30.06.2019 को इस्तीफा दे दिया है। पुरवार दोनों संगठनों को संभालेंगे और वह बीएसएनएल के सामने आने वाली सबसे खराब वित्तीय स्थिति को हल करने के लिए डीओंटी के निर्देशों का पालन करेंगे।

SCIENCE & TECHNOLOGY

चीन ने जेएल-3 सबमरीन-लॉन्चड बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया: रिपोर्ट
29 जून,2019 को, चीन ने अपनी नवीनतम जेएल-3 सबमरीन-लॉन्चड बैलिस्टिक मिसाइल (एसएलबीएम) का परीक्षण किया है।
प्रमुख बिंदु:
i.जेएल-3 की लगभग 14,000 किलोमीटर की सीमा है, जिसकी 10 स्वतंत्र निर्देशित परमाणु वारहेड ले जाने की क्षमता है।
ii.इसकी उच्च सटीकता के साथ दूर तक लक्ष्य तक पहुंचने और चीन के वर्तमान एसएलबीएम की तुलना में अधिक वॉरहेड ले जाने में सक्षम होने की उम्मीद है।
iii.एक सबमरीन-लॉन्चड बैलिस्टिक मिसाइल (एसएलबीएम) एक बैलिस्टिक मिसाइल है जो पनडुब्बियों से लॉन्च होने में सक्षम है।

SPORTS

स्क्वैश में वीर चोत्रानी ने एशियाई अंडर -19 चैंपियनशिप जीती:Veer Chotraniचीन के मकाऊ में अंडर -19 वर्ग में 26 वीं एशियाई जूनियर व्यक्तिगत स्क्वैश चैंपियनशिप 2019 जीतने वाले वीर चोत्रानी तीसरे भारतीय बन गए। इसका आयोजन मकाऊ स्क्वैश एसोसिएशन द्वारा किया गया था।
i.उन्होंने फाइनल में एक और भारतीय यश फड़ते को हराया। रवि दीक्षित और वेला सेंथिलकुमार भारत के पहले एशियाई जूनियर व्यक्तिगत स्क्वैश चैंपियन थे।
ii.लड़कियों के अंडर-15 के फाइनल में, भारत की युवना गुप्ता को मलेशिया की ऐरा बिन्ती आज़मन से हारने के बाद रजत पदक से संतोष करना पड़ा।
एशियन स्क्वैश फेडरेशन:
मुख्यालय – कुआलालंपुर, मलेशिया
अध्यक्ष – डेविड वाई.वाई.मुई

मैक्स वेरस्टैपेन ने 2019 ऑस्ट्रियन ग्रैंड प्रिक्स जीता:Max-Verstappenरेड बुल के मैक्स वेरस्टैपेन (बेल्जियम) ने फेरारी के चार्ल्स लेक्लेर को हरा दिया और 2019 का ऑस्ट्रियन ग्रैंड प्रिक्स जीता।
i.मर्सिडीज के वाल्टेरी बोटास जो लगातार जीत के साथ तीसरे स्थान पर रहा और फेरारी के सेबेस्टियन वेटल चौथे स्थान पर रहे।
ii.पांच बार के विश्व चैंपियन, मर्सिडीज के लुईस हैमिल्टन पांचवें स्थान पर रहे।

IMPORTANT DAYS

1 जुलाई, 2019 को जीएसटी की दूसरी वर्षगांठ मनाई गई:2nd anniversary of GST1 जुलाई, 2019 को, भारत सरकार ने जीएसटी (माल और सेवा कर) की दूसरी वर्षगांठ मनाई। इस अवसर पर, वित्त मंत्रालय, भारत सरकार ने इस दिन के अवसर पर परीक्षण के आधार पर नई रिटर्न प्रणाली शुरू की, जो 1 अक्टूबर, 2019 से लागू होगी।
i.1 जुलाई 2018 को पहला जीएसटी दिवस मनाया गया।
ii.नई जीएसटी रिटर्न प्रणाली: छोटे करदाताओं के लिए सहज और सुगम रिटर्न वित्त मंत्रालय द्वारा प्रस्तावित हैं।
iii.सिंगल कैश लेजर: कैश लेजर का युक्तिकरण इस तरह से किया जाता है कि पहले के 20 प्रमुखों को 5 प्रमुख प्रमुखों में मिला दिया जाता है। कर, ब्याज, जुर्माना, शुल्क और अन्य के लिए केवल एक कैश लेजर है।
iv.सिंगल रिफंड डिसबरसिंग: केंद्र या राज्य सरकार जो धनवापसी की मंजूरी देती है, वह रिफंड के सभी चार प्रमुख प्रमुखों जैसे सीजीएसटी, एसजीएसटी, आईजीएसटी और सेस को मंजूरी देती है।
v.वस्तुओं के लिए सीमा: राज्यों की पसंद के अनुसार वस्तुओं के आपूर्तिकर्ताओं के लिए 40 लाख रुपये की सीमा की पेशकश की जाती है।
vi.सेवाओं के लिए संरचना योजना: 6% की कर दर के साथ 50 लाख रुपये तक के सालाना टर्नओवर वाले छोटे सेवा प्रदाताओं के लिए संरचना योजना।
vii.ई-चालान प्रणाली: बी 2 बी (बिजनेस टू बिजनेस) लेनदेन के लिए चरणबद्ध तरीके से इलेक्ट्रॉनिक चालान प्रणाली को पेश किया जाना प्रस्तावित है।
viii.जीएसटीएटी: जीएसटी अपीलीय न्यायाधिकरण विभिन्न राज्य मुख्यालयों और क्षेत्र पीठों में भी स्थापित किए जा रहे हैं।

राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस 1 जुलाई, 2019 को मनाया गया:Doctors dayराष्ट्रीय डॉक्टर दिवस 1 जुलाई, 2019 को पूरे भारत में मनाया गया। इसका उद्देश्य डॉक्टरों के महत्व और हमारे जीवन में उनके दिन-प्रतिदिन महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस 2019 का विषय ‘डॉक्टरों और नैदानिक संस्थनो के खिलाफ हिंसा के लिए शून्य सहिष्णुता’ है। यह भारत भर में डॉक्टरों के साथ होने वाली हिंसा के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए है।
i.यह दिन भारत के सबसे प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ.बिधान चंद्र रॉय (डॉ.बी.सी.रॉय) की जयंती और पुण्यतिथि का प्रतीक है।
ii.डॉ.बी.सी.रॉय का जन्म 1 जुलाई 1882 को हुआ था। उन्होंने 1928 में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के गठन और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) के गठन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
iii.1991 में, भारत सरकार ने 1 जुलाई को राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस के रूप में घोषित किया था।

STATE NEWS

तमिलनाडु ने ‘तमिल येओमन’ या ‘तमिल मारवन’ को अपनी राज्य तितली घोषित किया:‘Tamil Yeoman’ or ‘Tamil Maravan’‘तमिल येओमन’, पश्चिमी घाट में पाई जाने वाली एक प्रकार की तितली को तमिलनाडु द्वारा राज्य तितली घोषित किया गया है। इसे ‘तमिल मारवन’ भी कहा जाता है। तमिलनाडु अपने राज्य तितली की घोषणा करने वाला देश का पांचवा राज्य बन गया है। महाराष्ट्र ने सबसे पहले ब्लू मॉर्मन को अपनी राज्य तितली घोषित किया, उसके बाद उत्तराखंड (कॉमन पीकॉक), कर्नाटक (साउथर्न बर्ड विंगस) और केरल (मालाबार बैंडेड पीकॉक) ने अपनी राज्य तितली घोषित की।
‘तमिल येओमान’:
i.इसका वैज्ञानिक नाम ‘सिर्रोच्रोया थिस’ था। ‘तमिल येओमान’ 30 तितली प्रजातियों में से एक है, जो पश्चिमी घाट में पाई जाती है।
ii.इन तितलियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर प्रवास करने के लिए जाना जाता है। ये तितलियाँ पीले और गहरे भूरे रंग की होती हैं।
तमिलनाडु के अन्य प्रतीक:
पशु – नीलगिरि तहर
पक्षी – एमराल्ड कबूतर
वृक्ष – ताड़ का पेड़
फूल – ग्लोरिओसा
फल – कटहल

गोवा सरकार ने महिलाओं को रात में काम करने की अनुमति देने के लिए संशोधन को मंजूरी दी:
गोवा की राज्य सरकार ने फैक्ट्रियों अधिनियम, 1948 में संशोधन को मंजूरी दे दी, जिससे राज्य के कारखानों में महिलाओं को रात के समय (शाम 7 बजे से सुबह 6 बजे के बीच) कानूनी रूप से काम करने की अनुमति मिली है।
प्रमुख बिंदु:
i.यह कार्यस्थल पर समानता लाएगा और महिलाओं को उनके करियर में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए परेशानी मुक्त स्थान देगा।
ii.फैक्ट्रीज एक्ट, 1948 की धारा 66 (1) (बी) महिलाओं को रात के समय काम करने से रोकती है।
iii.राज्य मंत्रिमंडल ने अधिनियम में संशोधन के लिए भी अपनी मंजूरी दे दी, जिससे कारखानों को अपने काम के घंटे 75 घंटे से 125 घंटे प्रति तिमाही तक बढ़ाने की अनुमति मिली, जिससे उन्हें उत्पादन बढ़ाने में मदद मिलेगी।

मलयालम फिल्म निर्देशक बाबू नारायणन का निधन हो गया:Babu Narayananनिर्देशक बाबू नारायणन, मलयालम फिल्म उद्योग के एक उल्लेखनीय निर्देशक का कैंसर के कारण केरल के त्रिशूर में निधन हो गया। उनका जन्म कोझीकोड (जिसे कालीकट के नाम से भी जाना जाता है), केरल में हुआ था।
i.उन्होंने निर्देशक अनिल-बाबू के साथ कई सफल फिल्मों का निर्देशन किया था। यह जोड़ी 1990 में लोकप्रिय हुई थी। इन दोनों ने कई लोकप्रिय फ़िल्में बनाईं जैसे कि मैथ्रीचेचेप्पु, स्त्रीधनम, कुडुम्बा वेश्शम, अरमानवेदुम अंजोरेकरम, कलियुंजल और पट्टिभिषेकम। इन दोनों की एक साथ आखिरी फिल्म 2004 में परायम थी।
ii.उनकी अंतिम व्यक्तिगत फिल्म 2013 की मलयालम फिल्म ‘टू नूरा विद लव’ थी।