Current Affairs Hindi – July 2 2019

हैलो दोस्तों, www.affairscloud.com में आपका स्वागत है। हम यहां आपके लिए 2 जुलाई,2019 के महत्वपूर्ण करंट अफेयर्स को विभिन्न अख़बारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, पीआईबी, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडिया टुडे, इंडियन एक्सप्रेस, बिजनेस स्टैंडर्ड,जागरण से चुन करके एक अनूठे रूप में पेश करते हैं। हमारे Current Affairs से आपको बैंकिंग, बीमा, यूपीएससी, एसएससी, सीएलएटी, रेलवे और अन्य सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Click here to Read Current Affairs Today in Hindi – 1 July 2019Current Affairs July 2 2019

INDIAN AFFAIR

यूजीसी ने भारत में अनुसंधान संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए एक नई पहल ‘स्ट्राइड’ को मंजूरी दी:STRIDEभारत में अनुसंधान संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने एक नई पहल ‘स्कीम फॉर ट्रांस-डिसिप्लिनरी रिसर्च फॉर इंडियाज डेवलपिंग इकॉनमी (स्ट्राइड) को मंजूरी दी।
प्रमुख बिंदु:
महत्व: यह सहयोगी अनुसंधान के साथ भारत की विकासशील अर्थव्यवस्था की दिशा में योगदान करने के लिए छात्रों और शिक्षकों की सहायता करके कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में अनुसंधान संस्कृति और नवाचार को मजबूत करेगा।
पहल: योजना के तहत महत्वपूर्ण पहल ‘रिसर्च प्रोजेक्ट’, ‘रिसर्च कैपेसिटी बिल्डिंग’ और ‘इनोवेशन’ हैं।
उद्देश्य: इसका उद्देश्य युवा प्रतिभाओं की पहचान करना, अनुसंधान संस्कृति को मजबूत करना, क्षमता का निर्माण करना, नवाचार को बढ़ावा देना, ट्रांस-डिसिप्लिनरी रिसर्च का समर्थन करना और मानविकी और मानव विज्ञान में बहु-संस्थागत नेटवर्क उच्च प्रभाव वाले अनुसंधान परियोजनाओं को निधि (फण्ड) प्रदान करना है।
घटक: योजना के 3 घटक हैं। घटक 1- प्रेरित युवा प्रतिभाओं की पहचान करना (1 करोड़ तक के अनुदान के लिए सभी विषयों के लिए लागू) , घटक 2- समस्या को सुलझाने के कौशल को बढ़ाना (50 लाख – 1 करोड़ तक के अनुदान के लिए सभी विषयों के लिए लागू) और घटक 3- निधि उच्च प्रभाव अनुसंधान परियोजनाएं (एक एचईआई के लिए 1 करोड़ तक और बहु-संस्थागत नेटवर्क के लिए 5 करोड़ तक का अनुदान)।
डेटाबेस: नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन के पास 608 से अधिक जिलों के 3 लाख से अधिक तकनीकी विचारों का एक डेटाबेस है।
आवेदन: योजना के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं और आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई, 2019 है।
यूजीसी के बारे में:
♦ स्थापित: 1956
♦ मुख्यालय: नई दिल्ली

जल संरक्षण के लाभों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए सरकार द्वारा जल शक्ति अभियान शुरू किया गया:
1 जुलाई, 2019 को, केंद्रीय जल शक्ति मंत्री, श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, ने नई दिल्ली में जल संरक्षण और जल सुरक्षा के लिए एक अभियान ‘जल शक्ति अभियान’ (जेएसए) की शुरुआत की। यह 256 जल तनाव वाले जिलों और 1,592 जल तनाव वाले ब्लॉकों पर ध्यान केंद्रित करेगा।
प्रमुख बिंदु:
i.अभियान दो चरणों में शुरू किया गया, पहला चरण 1 जुलाई, 2019 और 15 सितंबर, 2019 के बीच, सभी भाग लेने वाले राज्यों के लिए होगा और दूसरे चरण के लिए, 1 अक्टूबर से 30 नवंबर, 2019 तक, मानसून की वापसी वाले राज्यों के लिए होगा।
ii.अभियान के तहत 5 प्रमुख हस्तक्षेप क्षेत्रों में जल संरक्षण और वर्षा जल संचयन, पारंपरिक और अन्य जल निकायों का नवीकरण, पुन: उपयोग, बोरवेल पुनर्भरण संरचनाएं, वाटरशेड विकास और गहन वनीकरण शामिल हैं।
iii.जेएसए के साथ विभाग द्वारा बड़े पैमाने पर संचार अभियान की योजना भी बनाई गई थी।
जल शक्ति मंत्रालय के बारे में:
♦ स्थापित: 31 मई 2019
♦ मुख्यालय: नई दिल्ली

पीएम ने भारतीय कृषि के परिवर्तन के लिए महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस की अध्यक्षता में मुख्यमंत्रियों की एक उच्चस्तरीय समिति का गठन किया:Devendra Fadnavisप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय कृषि को बदलने और किसानों की आय बढ़ाने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस की अध्यक्षता में मुख्यमंत्रियों की एक उच्च स्तरीय 9 सदस्यीय समिति का गठन किया। यह नीतिगत उपायों का सुझाव देगी, निवेश को आकर्षित करेगा और खाद्य प्रसंस्करण में वृद्धि करेगी। समिति को नीति (नेशनल इंस्टीट्यूशन फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया) आयोग द्वारा सेवित किया जाएगा।
प्रमुख बिंदु:
i.सदस्य: एच.डी.कुमारस्वामी, मुख्यमंत्री, कर्नाटक, मनोहर लाल खट्टर, मुख्यमंत्री, हरियाणा, पेमा खांडू, मुख्य मंत्री, अरुणाचल प्रदेश, विजय रूपानी, मुख्यमंत्री, गुजरात, योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश, कमलनाथ, मुख्यमंत्री, मध्य प्रदेश, केंद्रीय कृषि, ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और नीति आयोग के सदस्य रमेश चंद।
ii.समय-सीमा: यह दो महीने में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी।
iii.संदर्भ की शर्तें (टीओआर): समिति कृषि उपज और पशुधन, अनुबंध खेती और सेवा (संवर्धन और सुविधा) अधिनियम, 2018, कृषि उत्पादन और पशुधन विपणन (सुधार और सुविधा) अधिनियम, 2017, आवश्यक वस्तु अधिनियम, 1955 में परिवर्तन, ई-एनएएम (राष्ट्रीय कृषि बाजार), जीआरएएम (ग्रामीण कृषि बाजार) और अन्य प्रासंगिक केंद्र प्रायोजित योजनाओं के साथ बाजार सुधारों को जोड़ने के लिए तंत्र जैसे सुधारों को अपनाने और समयबद्ध कार्यान्वयन के तौर तरीकों पर सुझाव देगी।
कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के बारे में:
♦ स्थापित: 1947
♦ मुख्यालय: नई दिल्ली

INTERNATIONAL AFFAIRS

जापान ने आधिकारिक तौर पर 30 से अधिक वर्षों के बाद वाणिज्यिक व्हेलिंग फिर से शुरू की:
1 जुलाई, 2019 को, टोक्यो के अंतर्राष्ट्रीय व्हेलिंग कमीशन (आईडब्लूसी) से हटने के विवादास्पद निर्णय के बाद जापान ने आधिकारिक तौर पर तीन दशकों से अधिक समय में पहली बार वाणिज्यिक व्हेलिंग फिर से शुरू की।
प्रमुख बिंदु:
i.इसके साथ, जापान आइसलैंड और नॉर्वे के समूह में शामिल हो गया जो आईडब्ल्यूसी अधिस्थगन के बावजूद वाणिज्यिक व्हेलिंग की अनुमति देने वाले देश है।
ii.जापान का अंतिम वाणिज्यिक शिकार वर्ष 1986 में हुआ था।
जापान के बारे में:
♦ राजधानी: टोक्यो
♦ मुद्रा: जापानी येन
♦ प्रधान मंत्री: शिंजो आबे

BANKING & FINANCE

एसबीआई और एनआईआईएफ ने बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए सांझेदारी की:
1 जुलाई, 2019 को, भारत के सबसे बड़े ऋणदाता, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और भारत के संप्रभु धन कोष, नेशनल इन्वेस्टमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर फण्ड (एनआईआईएफ) ने बुनियादी ढांचा क्षेत्र को वित्तपोषण समाधान प्रदान करने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।
प्रमुख बिंदु:
i.स्कोप: सांझेदारी इक्विटी निवेश, प्रोजेक्ट फंडिंग, बॉन्ड फाइनेंसिंग, नवीकरणीय ऊर्जा सहायता और परिचालन परिसंपत्तियों के लिए वित्त लाने में मदद करेगी।
ii.बड़े पैमाने पर परियोजनाओं के लिए इक्विटी और दीर्घकालिक ऋण वित्तपोषण विकल्पों की उपलब्धता से संबंधित चिंताएं है जिसे यह बुनियादी ढांचा विकास को प्रोत्साहित कर दूर करेगी।
iii.यह पहल बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के डेवलपर्स और बिल्डरों के लिए कंस्ट्रक्शन के बाद इक्विटी निकालने और ऋण वित्तपोषण की बहुत जरूरी उपलब्धता को भी संबोधित करेगी।
iv.एसबीआई ने वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान 47 बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए लगभग 51,000 करोड़ रुपये के ऋण का विस्तार किया।
एनआईआईएफ के बारे में:
स्थापना: 2015
मुख्यालय: मुंबई
सीईओं: सुजॉय बोस

AWARDS & RECOGNITIONS

पुलेला गोपीचंद को आईआईटी कानपुर ने डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्रदान की:Pullela Gopichand28 जून, 2019 को, आईआईटी (भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान) कानपुर ने अपने 52 वें दीक्षांत समारोह के अवसर पर खेल के लिए उनकी सेवाओं के लिए भारतीय बैडमिंटन टीम के मुख्य राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद को एक मानद डॉक्टरेट की उपाधि प्रदान की।
i.इसरो (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन) के पूर्व अध्यक्ष और आईआईटी कानपुर के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के अध्यक्ष प्रोफेसर के.राधाकृष्णन द्वारा गोपीचंद को यह सम्मान दिया गया।
ii.इन्फोसिस की चेयरपर्सन सुधा मूर्ति और मिसाइल महिला टेसी थॉमस इस सम्मान को पाने वाले अन्य दो व्यक्ति थे।
iii.प्रकाश पादुकोण के बाद यह उपलब्धि हासिल करने वाले गोपीचंद दूसरे भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।
iv.इस पुरस्कार के पूर्व प्राप्तकर्ता डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम और पूर्व प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह हैं।

मार्क टली को यूके-इंडिया अवार्ड्स 2019 में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड प्रदान किया गया:Mark Tullyवयोवृद्ध ब्रिटिश पत्रकार सर मार्क टली को यूके-भारत संबंध में उनके योगदान की पहचान के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया। वार्षिक यूके-इंडिया अवार्ड्स विशेष प्रतिभाओं और संगठनों को सम्मानित करते हैं जो यूके-भारत संबंधों को मजबूत करने के लिए अपने विश्वव्यापी प्रभाव का उपयोग करते हैं। 2019 यूके-इंडिया अवार्ड्स ने लंदन में वार्षिक यूके-इंडिया वीक के समापन को चिह्नित किया। यह लंदन में स्थित मीडिया हाउस इंडिया इंक द्वारा आयोजित यूके-इंडिया अवार्ड का तीसरा संस्करण था।
अन्य विजेता:

श्रेणीविजेता
सोशल इम्पैक्टब्रिटिश टेलीकॉम (बीटी)
मार्किट एंट्रेंट ऑफ़ द ईयरओयो
ग्लोबल इंडियन आइकन ऑफ द ईयरकुणाल नैय्यर
यूके-भारत संबंधों के लिए विशेष महत्वपूर्ण योगदानलार्ड करण बिलिमोरिया
स्टार्ट-अप ऑफ़ द ईयरमांच
फण्ड ऑफ़ द ईयरसॉफ्टबैंक इन्वेस्टमेंट एडवाइजर
लॉ फर्म ऑफ द ईयरयूके का बेकर मैकेंजी
ट्रेड एंड इन्वेस्टमेंट प्रमोशन एजेंसी ऑफ़ द ईयरमैनचेस्टर इंडिया पार्टनरशिप
डील ऑफ़ द ईयरएवरसोर्स कैपिटल / लाइट्ससोर्स बीपी
फाइनेंस आर्गेनाइजेशन ऑफ़ द इयरएक्सिस बैंक लिमिटेड

यूनाइटेड किंगडम के बारे में:
♦ राजधानी – लंदन
♦ मुद्रा – पाउंड स्टर्लिंग
♦ प्रधान मंत्री – थेरेसा मे

अपर्णा कुमार ‘सेवन समिट्स’ की चुनौती पर विजय प्राप्त करने वाली पहली सिविल सर्वेंट और आईपीएस अधिकारी बनीं:Aparna Kumarउत्तर प्रदेश कैडर की आईपीएस अधिकारी और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) में डीआईजी (पुलिस उप महानिरीक्षक), अपर्णा कुमार ने अलास्का, संयुक्त राज्य अमेरिका के माउंट दिनाली (उत्तरी अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी जो 20,310 फीट की ऊँचाई पर स्थित है) पर चढ़ाई की।
i.वह प्रथम सिविल सर्वेंट और आईपीएस (भारतीय पुलिस सेवा) अधिकारी हैं, जिन्होंने ‘सेवन समिट्स’ की चुनौती को पूरा करने की उपलब्धि हासिल की है।
ii.यह ‘सेवन समिट्स’ चैलेंज के उनके मिशन में यह उनकी सातवी चढ़ाई थी और उन्होंने अपने तीसरे प्रयास में इसको पूरा किया।

APPOINTMENTS & RESIGNS

एन.एस.विश्वनाथन को आरबीआई के डिप्टी गवर्नर के रूप में एक साल के लिए फिर से नियुक्त किया गया:N.S. Vishwanathanएन.एस.विश्वनाथन को 4 जुलाई, 2019 से प्रभावी भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) के डिप्टी गवर्नर के रूप में एक और वर्ष के लिए फिर से नियुक्त किया गया।
i.वह बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों और सहकारी बैंकों के विनियमन के प्रभारी हैं।
ii.एन.एस.विश्वनाथन के अलावा, बी.पी.काननगो और एम.के.जैन आरबीआई के दो अन्य डिप्टी गवर्नर है।
iii.वह बिमल जालान समिति के सदस्य भी हैं जो आरबीआई के लिए उपयुक्त आर्थिक पूंजी ढांचे के मामले को देख रही है।
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई):
♦ 1 अप्रैल, 1935 को स्थापित किया गया
♦ गवर्नर – शक्तिकांत दास

कर्णम सेकर आईओबी के नए एमडी और सीईओ के रूप में पदभार संभालेंगे:Karnam Sekar1 जुलाई, 2019 को, चेन्नई स्थित सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, इंडियन ओवरसीज़ बैंक (आईओबी) ने कर्णम सेकर को अपना नया प्रबंध निदेशक (एमडी) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नियुक्त किया है। वह आर.सुब्रमण्यकुमार की जगह लेंगे।
i.इस नियुक्ति से पहले, वह देना बैंक के एमडी और सीईओ थे।
ii.वह अप्रैल 2019 से आईओबी के स्पेशल ड्यूटी और पूर्णकालिक निदेशक थे।
iii.उन्होंने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ क्रेडिट ऑफिसर के रूप में भी काम किया था।
iv.उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में मेनेजर-ट्रेजरी के रूप में एसबीआई का नेतृत्व किया।
आईओबी के बारे में:
♦ संस्थापक: एम.सीटी.एम.चिदंबरम चेट्टियार
♦ स्थापित: 10 फरवरी 1937
♦ टैगलाइन: गुड पीपल टू ग्रो विद।

SCIENCE & TECHNOLOGY

भारतीय रेलवे ने त्री-नेत्रा प्रौद्योगिकी का परीक्षण किया: पीयूष गोयल
29 जून, 2012 को केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि दुर्घटनाओं को कम करने के लिए, भारतीय रेलवे पटरियों पर कोहरे के दौरान अवरोधों का पता लगाने के लिए आधुनिक तकनीक त्री-नेत्रा (टेररन इमेजिंग फॉर ड्राइवरस इन्फ्रारेड, एन्हैंस्ड, ऑप्टिकल एंड रेडिएशन असिस्टेड) ​​का व्यापक परीक्षण कर रहा है। ।
प्रमुख बिंदु:
i.यह लोको पायलटों को इन्फ्रारेड कैमरा, ऑप्टिकल कैमरा और रडार असिस्टेड इमेजिंग सिस्टम (ट्राई-नेत्रा) का उपयोग करके पटरियों पर अवरोधों की पहचान करने में सहायता करेगा।
ii.यह दुर्घटनाओं को कम करने में मदद करेगा और ट्रेन की उच्च गति को बनाए रखने में मदद करेगा।

नासा के टीईएसएस स्पेस टेलीस्कोप ने एल- 98-59 बी नामक इसके सबसे छोटे ग्रह की खोज की:
संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) अंतरिक्ष एजेंसी, नासा (नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन) के ट्रांजिटिंग एक्सोप्लेनेट सर्वे सैटेलाइट (टीईएसएस) ने एल- 98-59 बी नामक एक नए ग्रह की खोज की है। यह पृथ्वी के आकार का लगभग 80 प्रतिशत है। यह एल- 98-59 तारे की परिक्रमा करता है, जो सूर्य के लगभग एक-तिहाई द्रव्यमान का है और लगभग 35 प्रकाश-वर्ष दूर है। एल 98-59 बी नामक ग्रह टीईएसएस द्वारा आज तक खोजे गए सबसे छोटे ग्रह को चिह्नित करता है।
प्रमुख बिंदु:
i.एल 98-59 की परिक्रमा करते हुए दो अन्य एक्सोप्लैनेट की भी खोज की गई जिन्हें एल 98-59 सी और एल 98-59 डी नाम दिया गया है।
ii.यह खोज द एस्ट्रोनॉमिकल जर्नल में प्रकाशित हुई थी।
iii.टीईएसएस: यह एक अंतरिक्ष दूरबीन है जिसकी लागत नासा के खोजकर्ताओं कार्यक्रम के हिस्से के रूप में 200 मिलियन डॉलर है। यह अपने पूर्ववर्ती केपलर मिशन द्वारा कवर क्षेत्र की तुलना में 400 गुना बड़े क्षेत्र में पारगमन विधि का उपयोग करके एक्सोप्लैनेट की खोज करता है।

नासा जीवन की उत्पत्ति और चिन्हों की तलाश के लिए टाइटन पर ‘ड्रैगनफ्लाई’ ड्रोन मिशन भेजेगा:
अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी, नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) ने जीवन के संकेतों की खोज के लिए शनि के चंद्रमा टाइटन पर एक फ्लाइंग मल्टी रोवर वाहन, ‘ड्रैगनफ्लाई’ को भेजने की योजना बनाई है।
प्रमुख बिंदु:
i.इसे 2026 में लॉन्च किया जाएगा और 2034 में शनि के सबसे बड़े चंद्रमा पर उतरने के लिए तैयार किया जाएगा। मिशन का परिव्यय 850 मिलियन डॉलर था।
ii.यह नासा के न्यू फ्रंटियर्स कार्यक्रम का हिस्सा है, जिसमें प्लूटो जांच न्यू होराइजन्स, बृहस्पति जांच जूनो और ओएसआईआरआईएस-रेक्स क्षुद्रग्रह मिशन शामिल हैं।
iii.मिशन: इसे नमूनों को इकट्ठा करने, टाइटन के आसपास की साइटों की जांच करने और टाइटन और पृथ्वी दोनों पर प्री बायोटिक रासायनिक प्रक्रियाओं की समानता की तलाश के उद्देश्य से लॉन्च किया जाएगा।
iv.ड्रैगन फ्लाई: यह पहली बार होगा जब नासा मल्टी-रोटर वाहन उड़ाएगा, जिसमें आठ रोटर हैं और दूसरे ग्रह पर विज्ञान के लिए एक बड़े ड्रोन की तरह उड़ते हैं।
v.टाइटन: यह शनि का सबसे बड़ा चंद्रमा है और बृहस्पति के चंद्रमा गेनीमेड के बाद सौर मंडल का दूसरा सबसे बड़ा चंद्रमा है।

खगोलविदों ने फास्ट रेडियो बर्स्ट के स्रोत की खोज की:
पहली बार, शोधकर्ताओं की एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने एफआरबी 180924 के स्रोत की खोज की है, जो कि ब्रह्मांडीय ऊर्जा की एक रहस्यमय शक्तिशाली पल्स है जिसे फास्ट रेडियो बर्स्ट (एफआरबी) के रूप में जाना जाता है, जो केवल एक सेकंड के एक अंश तक चली। पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलियाई स्क्वायर किलोमीटर एरे पाथफाइंडर (एएसकेएपी) रेडियो टेलीस्कोप का उपयोग करके खोज की गई है।
प्रमुख बिंदु:
i.ऐसा कहा जाता है कि इसकी उत्पत्ति पृथ्वी से 3.6 बिलियन प्रकाश वर्ष दूर मिल्की वे के आकार की आकाशगंगा के बाहरी इलाके में हुई थी।
ii.पहला एफआरबी (एफआरबी 121102) 2007 में खोजा गया था और अब तक 80 से अधिक का पता लगाया जा चुका है।
iii.एएएएस जर्नल साइंस में निष्कर्ष प्रकाशित किए गए। अध्ययन के प्रमुख लेखक कीथ बैनिस्टर थे।

नासा के पंच मिशन ने भारतीय वैज्ञानिक दीपांकर बनर्जी को इसके सह-अन्वेषक के रूप में चुना:
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एस्ट्रोफिजिक्स के सौर भौतिक विज्ञानी दीपांकर बैनर्जी को नासा (नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन) ने अपने पंच मिशन के लिए चुना है। प्रो.बनर्जी भारत के विज्ञान कार्य समूह के सह अध्यक्ष भी हैं, जैसा कि भारत अपने स्वयं के उपग्रह आदित्य-एल 1 को भेजने की योजना बना रहा है, जो सूर्य के कोरोना का अध्ययन करने के लिए एक मिशन है।
i.दीपांकर बनर्जी सौर हवा के त्वरण का अध्ययन करेंगे। वह सूर्य के ध्रुवीय क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगा।
ii.टीम पंच और भारतीय मिशन आदित्य से संयुक्त टिप्पणियों का उपयोग करके सूर्य का भी निरीक्षण करेगी।
पंच के बारे में:
i.’पंच’ का पूर्ण नाम ‘पोलारिमीटर टू यूनिफाई द कॉरोना एंड हेलियोस्फीयर’ है, जो सूर्य की छवि लेगा।
ii.मिशन का उद्देश्य सूर्य के बाहरी कोरोना से लेकर सौर वायु तक के कणों के परिवर्तन को समझना है, जो ग्रहों के बीच के अंतरिक्ष को भरते है।
iii.कोरोना सूर्य का वायुमंडल है जो ग्रहों से अंतरिक्ष माध्यम से जुडा होता है।
iv.मिशन की 2022 में शुरू होने की उम्मीद है।
सूर्य के वातावरण के लिए अन्य मिशन:
नासा के पार्कर सोलर प्रोब और ईएसए-नासा की संयुक्त परियोजना, सोलर ऑर्बिटर, 2020 में लॉन्च होगी, जो सूर्य के वातावरण की संरचनाओं का अध्ययन करेगी।

SPORTS

ओडिशा 21 वें राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस चैम्पियनशिप 2019 की मेजबानी करेगा:21st Commonwealth Table Tennis Championship 2019ओडिशा सरकार के खेल और युवा सेवा विभाग ने 1 जुलाई, 2019 को टेबल टेनिस फेडरेशन ऑफ इंडिया (टीटीएफआई) और ओडिशा स्टेट टेबल टेनिस एसोसिएशन (ओंएसटीटीए) के साथ वर्ष 2019 के लिए 21 वें राष्ट्रमंडल चैम्पियनशिप की मेजबानी के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। यह 17-22 जुलाई, 2019 को कटक, ओडिशा के जवाहरलाल इंडोर स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा।
प्रमुख बिंदु:
i.आयुक्त-सह-सचिव, खेल और युवा सेवा विभाग, ओडिशा, विशाल के.देव ने वरिष्ठ उपाध्यक्ष, टीटीएफआई, एस.एन.सुल्तान और अध्यक्ष, ओएसटीटीए, एल.एन.गुप्ता के साथ मुख्यमंत्री, नवीन पटनायक और खेल और युवा सेवाओं के मंत्री, तुषारकांति बेहरा की उपस्थिति में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।
ii.इसने भारत, सिंगापुर, मलेशिया, बांग्लादेश, श्रीलंका, इंग्लैंड, स्कॉटलैंड, वेल्स, जर्सी, ऑस्ट्रेलिया, साइप्रस, दक्षिण अफ्रीका, नाइजीरिया, पाकिस्तान को मिलकर 14 संघों से प्रविष्टियां प्राप्त की हैं।
iii.पिछली दो कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप भारत में 2013 और 2015 में आयोजित की गई थीं।

भुल्लर ने एस्ट्रेला डैम एन.ए. एंडालुसिया मास्टर्स 2019 में 13 वां स्थान हासिल किया:
2019 के लिए एस्ट्रेला डैम एन.ए.एंडालुसिया मास्टर्स सर्जियो गार्सिया फाउंडेशन द्वारा आयोजित किया गया था जो कि रियल क्लब वल्दर्रमा, स्पेन में आयोजित किया गया था, भारतीय गोल्फर गगनजीत भुल्लर 13 वें स्थान पर रहे। एक अन्य भारतीय, शिव कपूर 56 वें स्थान पर रहे।
i.दक्षिण अफ्रीकी क्रिस्टियन बेजुइडनहॉट ने अपना पहला यूरोपीय टूर खिताब जीता। उन्होंने छह स्ट्रोक से जीत हासिल की। उन्हें € 500,000 की पुरस्कार राशि से सम्मानित किया गया। टूर्नामेंट की कुल पुरस्कार राशि € 3,000,000 थी।
ii.उनके बाद एड्रिया अर्नॉस और स्पेन के एडुआर्डो डी ला रीवा हैं।

OBITUARY

मोंटेनेग्रो के पूर्व राष्ट्रपति मोमिर बुलैटोविक का राउसी, मोंटेनेग्रो में निधन हो गया:Momir Bulatovicपूर्व यूगोस्लाविया के अशांत टूटने की प्रक्रिया के दौरान मोंटेनेग्रो के राष्ट्रपति के रूप में काम करने वाले मोमिर बुलैटोविक का 62 साल की उम्र में मोंटेनेग्रो के राउसी में निधन हो गया। उनका जन्म बेलग्रेड, पीआर सर्बिया, एफपीआर यूगोस्लाविया में हुआ था।
i.उन्होंने 1990 से 1998 तक मोंटेनेग्रो के राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया। वह तत्कालीन सर्बियाई राष्ट्रपति स्लोबोदान मिलोसेविच के सहयोगी थे।
ii.उन्होंने 1998 से 2000 तक यूगोस्लाविया के प्रधान मंत्री के रूप में भी कार्य किया।
iii.वह देश के लंबे समय से सेवा कर रहे नेता, मिलो जोकोनॉविक के साथ मोंटेनेग्रो की सत्तारूढ़ डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ़ सोशलिस्ट के संस्थापक थे। लेकिन वे अलग हो गए, जब जोकोनॉविक, मिलोसेविच से दूर हो गए और जिससे 2006 में मोंटेनेग्रो को स्वतंत्रता दिलाई।

भारत के पूर्व लेग स्पिनर राकेश शुक्ला का दिल्ली में निधन हुआ:Rakesh Shuklaभारत के पूर्व लेग स्पिनर, राकेश शुक्ला का 71 वर्ष की आयु में दिल्ली में निधन हो गया। उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में दिल्ली और बिहार का प्रतिनिधित्व किया था और 1982 में श्रीलंका के खिलाफ अपनी टेस्ट कैप हासिल की थी। वह कानपुर, उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे।
i.उन्होंने 121 प्रथम श्रेणी मैच खेले, 295 विकेट लिए और 3798 रन बनाए।
ii.उन्होंने 1969 में अपनी शुरुआत की और 1985-86 सीज़न में सेवानिवृत्त हुए।

वर्किंग वीमेन फोरम की संस्थापक डॉ.जया अरुणाचलम का चेन्नई, तमिलनाडु में निधन हो गया:Dr. Jaya Arunachalam29 जून, 2019 को, वर्किंग वीमेन फोरम (डब्ल्यूडब्ल्यूएफ) की संस्थापक डॉ.जया अरुणाचलम का 87 वर्ष की आयु में, एक बीमारी के बाद चेन्नई, तमिलनाडु में निधन हो गया। वह तमिलनाडु की रहने वाली थी।
i.वह तमिलनाडु, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में नेशनल यूनियन ऑफ़ वर्किंग वीमेन की अध्यक्ष, तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी (टीएनसीसी) की उपाध्यक्ष और अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की सदस्य थीं। वह पहली दक्षिण एशियाई महिला सदस्य थीं जिन्हें गवर्निंग काउंसिल ऑफ़ द सोसायटी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट, रोम के लिए चुना गया था। वह वर्ष 1994 में फिलीपींस में महिलाओं और बच्चों पर अंतर-मंत्रालयी सम्मेलन की भी सदस्य थीं।
ii.उन्हें 1987 में पद्म श्री, 2003 में ग्लीट्समैन फाउंडेशन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय कार्यकर्ता पुरस्कार, 2009 में जमनालाल बजाज पुरस्कार, 2009 में भारत रत्न राजीव गांधी महिला शक्ति पुरस्कार, और वर्ष 2010 में गॉडफ्रे फिलिप्स इंडिया द्वारा सोशल लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया।
iii.1999 में उन्हें यूनिवर्सिटी ऑफ़ ल्युएनबर्ग (जर्मनी) से डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया।

BOOKS & AUTHORS

नई दिल्ली में स्मृति ईरानी द्वारा डॉ.कृष्णा सक्सेना की पुस्तक ‘व्हिसपर्स ऑफ टाइम’ लॉन्च की गई:'Whispers of Time.1 जुलाई, 2019 को, कपड़ा और महिला और बाल विकास मंत्री, स्मृति ज़ुबिन ईरानी ने नई दिल्ली में इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में डॉ.कृष्णा सक्सेना (91) द्वारा लिखित नई पुस्तक ‘व्हिसपर्स ऑफ़ टाइम’ को जारी किया।
i.पुस्तक का प्रकाशन प्रभात प्रकाशन ने किया था।
ii.यह सक्सेना की नौवीं पुस्तक है, और यह नब्बे साल के उनके लंबे जीवन में उनके अनुभवों और टिप्पणियों के बारे में बात करती है।
iii.सक्सेना, दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रोफेसर, उत्तर प्रदेश से 1955 में अंग्रेजी साहित्य में पीएचडी डिग्री करने वाली पहली महिला छात्र है।

IMPORTANT DAYS

2 जुलाई को विश्व खेल पत्रकार दिवस 2019 मनाया गया:
विश्व खेल पत्रकार दिवस 2 जुलाई, 2019 को मनाया गया। यह खेल के प्रचार के लिए खेल पत्रकारों की सेवाओं को चिह्नित करने के लिए मनाया जाता है।
i.इसकी स्थापना 1994 में इंटरनेशनल स्पोर्ट्स एंड प्रेस एसोसिएशन (एआईपीएस) द्वारा अपनी 70 वीं वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए की गई थी, जिसे 2 जुलाई, 1924 को पेरिस में ग्रीष्मकालीन ओलंपिक के दौरान स्थापित किया गया था।
ii.दुनिया भर के खेल पत्रकार एआईपीएस द्वारा एकजुट हैं। भारत में, स्पोर्ट्स फेडरेशन को स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसजेएफआई) नाम दिया गया है, जिसे 27 फरवरी, 1976 को स्थापित किया गया था।

2 जुलाई 2019 को विश्व यूएफओ दिवस मनाया गया:World UFO day2 जुलाई, 2019 को, विश्व यूएफओ (अननोन फ्लाइंग ऑब्जेक्ट्स) दिवस पूरे विश्व में मनाया गया। इसे यूएफओ के अस्तित्व के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।
i.पहला विश्व यूएफओ दिवस 2001 में मनाया गया था।
ii.इससे पहले, दिन 24 जून को मनाया जाता था, जिस दिन एविएटर केनेथ अर्नोल्ड ने वाशिंगटन राज्य पर उड़ने वाली नौ असामान्य वस्तुओं को देखने की सूचना दी, लेकिन डब्लूयूएफओंडीओं (वर्ल्ड यूएफओ डे ऑर्गनाइजेशन) ने बड़े पैमाने पर 2 जुलाई को विश्व यूएफओ दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की।

STATE NEWS

एईएस और जेई को मिटाने के लिए यूपी द्वारा शुरू किया गया दस्तक अभियान:Dastak1 जुलाई, 2019 को, उत्तर प्रदेश सरकार ने घातक एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) और जापानी एन्सेफलाइटिस (जेई) बीमारी को मिटाने के लिए ‘दस्तक अभियान’ शुरू किया। यह एक व्यापक सामाजिक और व्यवहार परिवर्तन संचार (एसबीसीसी) रणनीति का हिस्सा है जिसे यूपी सरकार ने अपनाया है।
i.मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संचारी रोग नियंत्रण के दूसरे चरण का और दस्तक अभियान का उद्घाटन किया जो 1 से 31 जुलाई 2019 तक चलेगा।
ii.इसके तहत, अभियान टीम राज्य के 75 जिलों के प्रत्येक गांव में घर-घर जाकर संचारी रोगों के साथ-साथ जेई और एईएस के बारे में जागरूकता पैदा करेंगी।
iii.राज्य के विभाग जैसे स्वास्थ्य, ग्रामीण विकास, प्राथमिक शिक्षा मिलकर रोगों के बारे में जागरूकता फैलाने का काम करेंगे।
iv.2018 में, यूपी सरकार ने इन्सेफेलाइटिस और अन्य वेक्टर जनित रोगों को नियंत्रित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) के सहयोग से ‘दस्तक’ अभियान शुरू किया था।
उत्तर प्रदेश के बारे में:
♦ राजधानी: लखनऊ
♦ राज्यपाल: राम नाईक
♦ वन्यजीव अभयारण्य: हस्तिनापुर वन्यजीव अभयारण्य
♦ राष्ट्रीय उद्यान: दुधवा राष्ट्रीय उद्यान

केशनी आनंद हरियाणा की नई मुख्य सचिव होंगी:Keshni Anand30 जून, 2019 को, हरियाणा राज्य सरकार ने किशनी आनंद अरोड़ा को राज्य का नया मुख्य सचिव नियुक्त किया। उन्होंने श्री डी.एस.ढेसी की जगह ली, जो 30 जून, 2019 को सेवानिवृत्त हुए हैं। वह 1966 से हरियाणा की 33 वी कैबिनेट सचिव होंगी। उनकी बहन मीनाक्षी आनंद चौधरी 2006 में राज्य की पहली महिला मुख्य सचिव बनीं और उनकी दूसरी बहन उर्वशी गुलाटी ने वही पद 2009 में ग्रहण किया।
प्रमुख बिंदु:
i.वह पहले हरियाणा सरकार में अतिरिक्त मुख्य सचिव, और वित्तीय आयुक्त, राजस्व और आपदा प्रबंधन और समेकन विभागों में कार्य करती थीं।
ii.अरोड़ा, 1983, हरियाणा कैडर की आईएएस अधिकारी (भारतीय प्रशासनिक सेवा), सामान्य प्रशासन, कर्मियों, प्रशिक्षण, संसदीय मामलों, प्रशासनिक सुधार विभागों और योजना समन्वय के प्रभारी सचिव का कार्यभार भी संभालेंगी।
हरियाणा के बारे में:
♦ राजधानी: चंडीगढ़
♦ राज्यपाल: सत्यदेव नारायण आर्य
♦ मुख्यमंत्री: मनोहर लाल खट्टर