Current Affairs Quiz In Hindi – 4 May 2018

हैलो दोस्तों, www.affairscloud.com में ऑनलाइन Current Affairs 2018 प्रश्नोत्तरी में आपका स्वागत है। यहां हम वर्तमान मामलों में महत्वपूर्ण घटना पर क्विज बना रहे हैं, जो सभी बैंक परीक्षाओं और अन्य प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए सामान्य है।Current Affairs Quiz से आपको प्रतियोगी परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Current Affairs Today 4 May 2018 हिंदी में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

1.______ गणराज्य के पहले उप प्रधान मंत्री और विदेश मामलों के मंत्री श्री इविका डेसिक, 1 से 4 मई, 2018 तक भारत की आधिकारिक यात्रा पर थे। 3 मई, 2018 को, श्री इविका डेसिक ने केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ बैठक की?
1. सर्बिया
2. रूस
3. जर्मनी
4. फ्रांस
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 1. सर्बिया
स्पष्टीकरण:
सर्बिया गणराज्य के पहले उप प्रधान मंत्री और विदेश मामलों के मंत्री श्री इविका डेसिक, 1 से 4 मई, 2018 तक भारत की आधिकारिक यात्रा पर थे। 3 मई, 2018 को, श्री इविका डेसिक ने केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ बैठक की। बैठक के दौरान, दोनों मंत्रियों ने पारस्परिक हित के द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों की सीमा पर चर्चा की। बैठक के दौरान, व्यापार और निवेश, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, कृषि और खाद्य प्रसंस्करण, सूचना प्रौद्योगिकी, रक्षा, संस्कृति और पर्यटन और स्वास्थ्य और फार्मास्यूटिकल्स सहित विभिन्न क्षेत्रों में भारत-सर्बिया द्विपक्षीय सहयोग पर भी चर्चा हुई। दोनों मंत्रियों ने संस्कृति, खेल, युवा और जन मीडिया के क्षेत्र में सहयोग पर एक समझौते पर भी हस्ताक्षर किए। इस यात्रा के दौरान, श्री इविका डेसिक ने भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से भी मुलाकात की।

2.वीजा प्राप्त करने में आसानी बढ़ाने के लिए, किस देश ने 2 मई, 2018 को ऑनलाइन ‘इवेंट क्लीयरेंस सिस्टम’ लॉन्च किया, जिसका उद्देश्य विदेशियों को सम्मेलन, सेमिनार या कार्यशालाओं में भाग लेने के लिए भारत आने की इच्छा रखने के लिए सुरक्षा मंजूरी देना है?
1. भारत
2. पाकिस्तान
3. चीन
4. आयरलैंड
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 1. भारत
स्पष्टीकरण:
वीजा प्राप्त करने में आसानी बढ़ाने के लिए, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 2 मई, 2018 को ऑनलाइन ‘इवेंट क्लीयरेंस सिस्टम’ लॉन्च किया, जिसका उद्देश्य विदेशियों को सम्मेलन, सेमिनार या कार्यशालाओं में भाग लेने के लिए भारत आने की इच्छा रखने के लिए सुरक्षा मंजूरी देना है। इस प्रणाली के तहत, विदेशों में भारतीय मिशन केंद्रीय शैक्षिक संस्थानों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, सार्वजनिक वित्त पोषित विश्वविद्यालयों, निजी संस्थानों या गैर सरकारी संगठनों द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में भाग लेने के इच्छुक प्रतिनिधियों को सम्मेलन वीज़ा जारी करेंगे। ‘इवेंट क्लीयरेंस सिस्टम’ की मुख्य विशेषता यह है कि, पूरी प्रक्रिया पेपरलेस और मानकीकृत है क्योंकि प्रक्रिया में शामिल विभिन्न अधिकारी ऑनलाइन आवेदन और दस्तावेजों देख सकते हैं और निर्णय ले सकते हैं। हालांकि, विदेशों में भारतीय मिशन को अफगानिस्तान, पाकिस्तान, इराक और सूडान या पाकिस्तानी मूल के विदेशियों या ‘देशविहीन व्यक्तियों’ के प्रतिभागियों को सम्मेलन वीजा देने से पहले गृह मंत्रालय से पूर्व सहमति प्राप्त करने की आवश्यकता होगी।

3.4 मई, 2018 को माल और सेवा कर (जीएसटी) की 27 वीं बैठक की अध्यक्षता किसने की थी?
1. उर्जित पटेल
2. अरुण जेटली
3. राजीव कुमार
4. राम नाथ कोविंद
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 2. अरुण जेटली
स्पष्टीकरण:
वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में माल और सेवा कर (जीएसटी) की 27 वीं बैठक 4 मई, 2018 को हुई थी। डिजिटल भुगतान के प्रचार को प्रोत्साहित करने के लिए, बी 2 सी आपूर्ति पर जीएसटी दर में 2% की रियायत का प्रस्ताव (जिसके लिए चेक या डिजिटल मोड के माध्यम से भुगतान किया जाता है, प्रति लेनदेन 100 रुपये की सीमा के अधीन) पर चर्चा की गई। राज्य सरकारों के मंत्रियों का एक समूह इस प्रस्ताव पर विचार करने और अगली जीएसटी परिषद की बैठक से पहले सिफारिशें करने के लिए तैयार किया जाएगा। चीनी पर लगाए गए 5% जीएसटी के ऊपर चीनी कंपनियों द्वारा बेचे जाने वाले प्रत्येक किलोग्राम पर अधिकतम 3 रुपये की चीनी उपकर लगाने के लिए चर्चा की गई। इस कदम से 1540 करोड़ रुपये जुटाने की उम्मीद है जिसे मिलों की ओर से गन्ना किसानों को भुगतान किया जा सकता है। राज्य सरकारों के मंत्रियों का एक समूह इस प्रस्ताव पर विचार करने और दो हफ्तों के भीतर सिफारिशें करने के लिए भी स्थापित किया जाएगा।

4.1 मई, 2018 को, किस राज्य के मुख्यमंत्री ने पूरे राज्य में ‘गांव जाओ’ मिशन लॉन्च किया?
1. मिजोरम
2. तेलंगाना
3. मणिपुर
4. मध्य प्रदेश
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 3. मणिपुर
स्पष्टीकरण:
1 मई, 2018 को, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने पूरे राज्य में ‘गांव जाओ’ मिशन लॉन्च किया। मणिपुर राज्य सरकार के ‘गांव जाओ’ मिशन का उद्देश्य राज्य के हर कोने में योग्य लाभार्थियों की पहचान करना और उनके दरवाजे पर सरकारी सेवाएं देना है। मिशन 60 विधानसभा क्षेत्रों के 60 गांवों में लॉन्च किया गया है। मिशन गतिविधियों से एकत्र की गई आवश्यकताओं और डेटा का आकलन करने के लिए एक समीक्षा बैठक भी आयोजित की जाएगी।

5.3 मई, 2018 को, नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि सिक्किम में _______, जो जून 2018 में शुरू किया जाना है, देश का 100 वां कार्यात्मक हवाई अड्डा होगा?
1. पकयोंग हवाई अड्डा
2. जेवर हवाई अड्डा
3. नवीन मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा
4. सबरिमा हवाई अड्डा
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 1. पकयोंग हवाई अड्डा
स्पष्टीकरण:
3 मई, 2018 को, नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि सिक्किम में पकयोंग हवाई अड्डा, जो जून 2018 में शुरू किया जाना है, देश का 100 वां कार्यात्मक हवाई अड्डा होगा। वर्तमान में, सिक्किम भारत का एकमात्र राज्य है जिसमें हवाई अड्डा नहीं है। चालु होने के बाद, कम लागत वाली एयरलाइन स्पाइसजेट नागर विमानन मंत्रालय की क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना उड़ान के तहत कोलकाता से सिक्किम में पकयोंग के लिए उड़ानें उपलब्ध होंगी। उड़ान के तहत, विमानन नेटवर्क में 25 हवाईअड्डे जोड़े गए हैं, 13 हवाई अड्डों को अपग्रेड किया जा रहा है और हेलीकॉप्टर संचालन को संभालने के लिए 23 हवाई अड्डे और हेलीपैड दिए गए हैं।

6.4 मई, 2018 को ‘अत्‍याधुनिक, सुदृढ़ एवं डिजिटल बुनियादी ढांचे’ पर चौथा क्षेत्रीय सम्मेलन कहां समाप्त हुआ?
1. बेंगलुरु
2. हैदराबाद
3. मुंबई
4. चेन्नई
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 1. बेंगलुरु
स्पष्टीकरण:
4 मई, 2018 को बेंगलुरू में ‘अत्‍याधुनिक, सुदृढ़ एवं डिजिटल बुनियादी ढांचे’ पर चौथा क्षेत्रीय सम्मेलन समाप्त हुआ। भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) और विकासशील देशों के लिए अनुसंधान और सूचना प्रणाली (आरआईएस) के सहयोग से केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने सम्मेलन का आयोजन किया था। इस दो दिवसीय सम्मेलन में विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों, नागरिक समाज संगठनों और शिक्षाविदों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया था। सम्मेलन में चर्चा मौजूदा चुनौतियों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ-साथ भविष्यवादी, लचनशील और डिजिटल आधारभूत संरचना, संसाधन मोबिलाइजेशन और उभरती चुनौतियों की आवश्यकता के संदर्भ में अवसरों पर केंद्रित है। डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर को ‘बुनियादी ढांचे के लिए आधारभूत संरचना’ के रूप में पहचाना गया है। यह सम्मेलन एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक (एआईआईबी) की तीसरी वार्षिक बैठक जो 25 और 26 जून 2018 को आयोजित होगी उससे पहले एक कार्यक्रम था। एआईआईबी की तीसरी वार्षिक बैठक भारत सरकार द्वारा आयोजित की जाएगी।

7.मई 2018 को, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने किस राज्य में पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक्ट ईस्ट पॉलिसी पर एक परस्पर संवादात्मक सत्र की अध्यक्षता की?
1. इम्फाल
2. नई दिल्ली
3. शिमला
4. देहरादून
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 2.नई दिल्ली
स्पष्टीकरण:
मई 2018 को, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नई दिल्ली में पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक्ट ईस्ट पॉलिसी पर एक परस्पर संवादात्मक सत्र की अध्यक्षता की। मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवाल (असम), निफिउ रियो (नागालैंड), एन बिरेन सिंह (मणिपुर), बिप्लाब देब (त्रिपुरा) और कॉनराड संगमा (मेघालय) आदि ने बैठक में भाग लिया। इसमें नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ राजीव कुमार,विदेश मामलों के राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी के सिंह,विदेश सचिव विजय गोखले,सचिव (पूर्व) प्रीती सरन इत्यादि ने भी भाग लिया। 25 जनवरी 2018 को आयोजित आसियान इंडिया स्मारक शिखर सम्मेलन के बाद, यह बैठक आसियान और भारत के विस्तारित पड़ोस के साथ भारत की भागीदारी को और बढ़ाएगी।

8.मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एमओओसी प्लेटफॉर्म ‘स्‍वयं’ का उपयोग करते हुए 1.5 मिलियन उच्च/शिक्षा फैकल्टी के ऑनलाइन पेशेवर विकास का बड़ा और अनूठा कार्यक्रम प्रारंभ किया है। पहले चरण में कितने अध्‍ययन-विषय विशेष राष्‍ट्रीय संसाधन केन्‍द्र चिन्ह्ति किये गये है?
1.85
2.75
3.45
4.55
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 2.75
स्पष्टीकरण:
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एमओओसी प्लेटफॉर्म ‘स्‍वयं’ का उपयोग करते हुए 1.5 मिलियन उच्च/शिक्षा फैकल्टी के ऑनलाइन पेशेवर विकास का बड़ा और अनूठा कार्यक्रम प्रारंभ किया है। पहले चरण में 75 अध्‍ययन-विषय विशेष राष्‍ट्रीय संसाधन केन्‍द्र चिन्ह्ति किये गये है। इन केन्‍द्रों से अध्‍ययन-विषय विशेष में नवीनतम विकास, उभरती प्रवृत्तियों, शैक्षणिक सुधार और संशोधित पाठ्यक्रम लागू करने के लिए तौर-तरीकों पर फोकस के साथ ऑनलाइन प्रशिक्षण सामग्री तैयार करने को कहा गया है। आईआईएससी, आईआईटी, एनआईटी, राज्य विश्वविद्यालयों, आईआईआईटी, ओपन यूनिवर्सिटी आदि जैसे संस्थानों की एक विस्तृत श्रृंखला को एनआरसी के रूप में पहचाना गया है। इन संसाधन केन्‍द्रों में एनआरसी, समाज विज्ञान, विज्ञान, इंजीनियरिंग और टेक्‍नोलॉजी, डिजाइन और मैन्‍यूफैक्‍चरिंग, कला, भाषा, शिक्षण, वाणिज्‍य, प्रबंधन, शिक्षा नियोजन और प्रशासन, लोक नीति, नेतृत्‍व और शासन संचालन, पुस्‍तकालय और सूचना विज्ञान, खगोल विज्ञान तथा खगोल भौतिकी, निर्धारण और मूल्‍यांकन, अध्‍यापन कला और शोध विधि, नैनो साइंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्‍स जैसे विभिन्‍न अध्‍ययन-विषय हैं।

9.कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद राष्ट्रीय एनडब्ल्यूआईसी को हाल ही में जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय द्वारा नई दिल्‍ली में सृजित किया गया है। एनडब्ल्यूआईसी क्या है?
1. राष्ट्रीय जल सूचना विज्ञान परिषद
2. राष्ट्रीय जल सूचना विज्ञान केंद्र
3. राष्ट्रीय मौसम सूचना विज्ञान केंद्र
4. राष्ट्रीय मौसम सूचना विज्ञान परिषद
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 2. राष्ट्रीय जल सूचना विज्ञान केंद्र
स्पष्टीकरण:
कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद राष्ट्रीय जल सूचना विज्ञान केंद्र (एनडब्ल्यूआईसी) को हाल ही में जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय द्वारा नई दिल्‍ली में सृजित किया गया है। एनडब्ल्यूआईसी राष्‍ट्र व्‍यापी जल संसाधन डेटा का एक संग्राहक होगा और यह जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय के एक अधीनस्‍थ कार्यालय के रूप में काम करेगा। इस केन्‍द्र का प्रमुख संयुक्‍त सचिव स्‍तर का एक अधिकारी होगा। एक व्‍यापक ‘जल संसाधन सूचना प्रणाली (डब्‍ल्‍यूआरआईएस)’ को विकसित कर उसका समुचित रख-रखाव एवं नियमित अद्यतन सार्वजनिक तौर पर किया जाएगा। यह वैज्ञानिक आकलन, निगरानी, प्रतिरूपण एवं निर्णय समर्थन प्रणाली (डीएसएस) और एकीकृत जल संसाधन प्रबंधन भी सुनिश्चित करेगा। एनडब्‍ल्‍यूआईसी द्वारा जल संसाधनों एवं संबंधित विषयों (थीम) पर अद्यतन डेटा का ‘एकल खिड़की’ स्रोत मुहैया कराएगा। इसके अलावा, यह अपने प्रबंधन और टिकाऊ विकास के लिए हितधारकों को मूल्यवर्धित उत्पादों और सेवाओं की पेशकश करेगा।

10.राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) ने भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) प्रौद्योगिकी का उपयोग करके गंगा कायाकल्प कार्य को पूरा करने के उद्देश्य से 1767 में गठित भारत के सबसे पुराने विभाग,__________ को अपने साथ जोड़ा है?
1. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो)
2. भारतीय सर्वेक्षण विभाग
3. राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी)
4. ऊर्जा दक्षता सेवा लिमिटेड (ईईएसएल)
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 2. भारतीय सर्वेक्षण विभाग
स्पष्टीकरण:
नमामि गंगे कार्यक्रम को सुदढ़ बनाने के लिए जीआईएस प्रोद्यौगिकी का उपयोग करके पानी की गुणवत्ता की जांच के लिए एसपीसीबी को शक्तिशाली बनाया जाएगा। राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) ने भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) प्रौद्योगिकी का उपयोग करके गंगा कायाकल्प कार्य को पूरा करने के उद्देश्य से 1767 में गठित भारत के सबसे पुराने विभाग, भारतीय सर्वेक्षण विभाग को अपने साथ जोड़ा है। 531.24 करोड़ रूपये की लागत वाली ये 4 नई परियोजनाएं राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन की 11 वीं कार्यकारी समिति की बैठक में मंजूरी की गई थी। इस बैठक की अध्यक्षता एनएमसीजी के महानिदेशक श्री राजीव रंजन मिश्रा ने की थी। इस परियोजना को कार्यकारी समिति की बैठक में मंजूर किया गया था और इसकी अनुमानित लागत 86.84 करोड़ रूपये है। परियोजना में डिजीटल इलिवेशन मॉडल (डीईएम) प्रौद्योगिकी का उपयोग शामिल है जो सटीक आंकड़ा संग्रह सुनिश्चित करता है। जीआईएस प्रोद्योगिकी का उपयोग विकेंद्रीकरण भी सुनिश्चित करेगा। संग्रह किये गए आंकड़ों तथा सरकार द्वारा उठाए गये कदमों की जानकारी पोर्टल व मोबाईल एप के माध्यम से स्थानीय लोगों के साथ साझा की जा सकती है। राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन में गंगा बेसिन राज्यों उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड व पश्चिम बंगाल के राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्डों को सुदृढ बनाने से संबंधित एक परियोजना को मंजूरी दी है ताकि वे समय-समय पर जल की गणवत्ता सत्यापित कर सकें।

11.पावरग्रिड ने वर्ष 2018-19 के लिए ____________ करोड़ रुपये के पूंजीगत व्‍यय का लक्ष्‍य रखा है?
1. 25,000 करोड़
2. 55,000 करोड़
3. 40,000 करोड़
4. 65,000 करोड़
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 1. 25,000 करोड़
स्पष्टीकरण:
पावरग्रिड ने वर्ष 2018-19 के लिए 25,000 करोड़ रुपये के पूंजीगत व्‍यय का लक्ष्‍य रखा है। पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (पावरग्रिड) ने भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय के साथ वर्ष 2018-19 के लिए एक सहमति पत्र (एमओयू) पर हस्‍ताक्षर किए हैं। इस एमओयू पर भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय में सचिव श्री अजय कुमार भल्‍ला और पावरग्रिड के सीएमडी श्री आई. एस. झा ने हस्‍ताक्षर किए। उपर्युक्‍त एमओयू में पावरग्रिड द्वारा वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान हासिल किए जाने वाले विभिन्‍न लक्ष्‍यों का उल्‍लेख किया गया है। वित्त वर्ष 2018-19 के लिए पूंजीगत व्‍यय का लक्ष्‍य 25,000 करोड़ रुपये तय किया गया है। इस एमओयू में उल्लिखित अन्‍य लक्ष्‍यों में मानव संसाधन, परियोजना प्रबंधन, अनुसंधान एवं विकास (आरएंडडी) तथा नवाचार से संबंधित मानदंड और दक्षता एवं परिचालन प्रदर्शन से जुड़े अन्‍य मानदंड शामिल हैं।

12.स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2017 के लिए भारत दुनिया के शीर्ष कितने रक्षा व्ययकर्ताओं में से एक है?
1.5
2.6
3.4
4.3
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 1.5
स्पष्टीकरण:
स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2017 के लिए भारत दुनिया के शीर्ष 5 रक्षा व्ययकर्ताओं में से एक है। 2017 में, भारत का रक्षा व्यय 63.9 अरब डॉलर रहा, जो पिछले वर्ष की तुलना में 5.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। भारत ने फ्रांस को पीछे छोड़ नंबर 5 स्थान पर कब्ज़ा कर लिया है। 2017 में $ 610 बिलियन रक्षा व्यय के साथ, संयुक्त राज्य (यूएस) ने दुनिया की सबसे बड़े व्ययकर्ता के रूप में अपनी स्थिति बरकरार रखी।
शीर्ष 10 रक्षा खर्चा करने वाले देश – 2017:
रैंक             देश                           रक्षा खर्च
1        संयुक्त राज्य अमेरिका            $ 610 बिलियन
2              चीन                         $ 228 बिलियन
3          सऊदी अरब                    $ 69.4 बिलियन
4              रूस                         $ 66.3 बिलियन
5             भारत                         $ 63.9 बिलियन
6             फ्रांस                          $ 57.8 बिलियन
7     यूनाइटेड किंगडम                   $ 47.2 बिलियन
8            जापान                         $ 45.4 बिलियन
9            जर्मनी                         $ 44.3 बिलियन
10      दक्षिण कोरिया                    $ 39.2 बिलियन

13.भारत वैश्विक परामर्श फर्म ए टी कीर्नी द्वारा जारी विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) कॉन्फिडेंस इंडेक्स 2018 पर कौन से स्थान पर है?
1.12
2.22
3.11
4.51
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 3.11
स्पष्टीकरण:
भारत वैश्विक परामर्श फर्म ए टी कीर्नी द्वारा जारी विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) कॉन्फिडेंस इंडेक्स 2018 पर 11 वे स्थान पर है। एफडीआई कॉन्फिडेंस इंडेक्स 2018 पर भारत का 11 वां रैंक 2017 में 8 वे रैंक की तुलना में तीन स्थानों की गिरावट दर्शाता है। रिपोर्ट में उल्लिखित है कि नवंबर 2016 में भारत सरकार द्वारा की गई नोट्बंदी और जुलाई 2017 में माल और सेवा कर (जीएसटी) शुरू होने से विदेशी निवेशक अल्प अवधि के लिए रुक गए है। इसके अलावा, रिपोर्ट ने स्वीकार किया है कि विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) को खत्म करने का निर्णय भारत के आकर्षण पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। अप्रैल-दिसंबर 2017 की अवधि के दौरान, भारत में एफडीआई मामूली 0.27 प्रतिशत से बढ़कर 35.95 अरब डॉलर हो गया। अमेरिका एफडीआई कॉन्फिडेंस इंडेक्स 2018 में सबसे ऊपर है।

14.किस इकाई ने ‘फ्री इंट्राडे ट्रेडिंग’ लॉन्च की है, यह एक ऐसी सुविधा है जो वित्तीय बाजार व्यापारियों को प्रति व्यापार ब्रोकरेज के भुगतान के बिना इंट्रा-डे ट्रेडिंग करने की अनुमति देती है?
1. कोटक सिक्योरिटीज लिमिटेड
2. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज
3. सिक्योरिटीज एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया
4. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 1. कोटक सिक्योरिटीज लिमिटेड
स्पष्टीकरण:
कोटक महिंद्रा ग्रुप की स्टॉक ब्रोकिंग और डिस्ट्रीब्यूशन शाखा कोटक सिक्योरिटीज लिमिटेड ने ‘फ्री इंट्राडे ट्रेडिंग’ लॉन्च की है, यह एक ऐसी सुविधा है जो वित्तीय बाजार व्यापारियों को प्रति व्यापार ब्रोकरेज के भुगतान के बिना इंट्रा-डे ट्रेडिंग करने की अनुमति देती है। वित्तीय प्रवृत्ति में, इंट्राडे ट्रेडिंग उसी दिन प्रतिभूति (इक्विटी, मुद्रा, वस्तु) को खरीदने और बेचने की गतिविधि को संदर्भित करती है। कोटक सिक्योरिटीज की ‘फ्री इंट्राडे ट्रेडिंग’ सुविधा के तहत, व्यापारी 999 रुपये की वार्षिक सदस्यता पर नकदी, भविष्य और विकल्प खंडों में इंट्राडे व्यापार कर सकते हैं। एक मूल्य वर्धित सेवा के रूप में, ‘फ्री इंट्रैड ट्रेडिंग’ सुविधा का लाभ लेने वाले व्यक्तियों को अपने लेनदेन के निष्पादन के लिए कोटक सिक्योरिटीज रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी प्लेटफ़ॉर्म तक निःशुल्क पहुंच प्राप्त होगी।

15.किसको पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश रूप में नियुक्त किया गया है?
1. दीपक मिश्रा,
2. विजेंद्र चौहान
3. अजय कुमार मित्तल
4. अनुज सिंह
5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर &स्पष्टीकरण
उत्तर – 3. अजय कुमार मित्तल
स्पष्टीकरण:
न्यायमूर्ति अजय कुमार मित्तल को पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश रूप में नियुक्त किया गया है। न्यायमूर्ति अजय कुमार मित्तल ने मुख्य न्यायाधीश शिवक्स जल वजीफादार की जगह ली जो हाल ही में सेवानिवृत्त हुए। कानून मंत्रालय ने 4 मई 2018 से न्यायमूर्ति मित्तल को कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त करने की अधिसूचना जारी की। सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम ने पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी की सिफारिश की है।

करंट अफेयर्स से स्टेटिक G.K प्रश्न:

किस राज्य में कांगार घाटी राष्ट्रीय उद्यान है?

उत्तर
छत्तीसगढ़

1994 में स्थापित कोटक सिक्योरिटीज लिमिटेड का मुख्यालय कहां स्थित है?

उत्तर
मुंबई, महाराष्ट्र

पावरग्राइड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कौन हैं?

उत्तर
आई.एस.झा

जय प्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कहां स्थित है?

उत्तर
पटना, बिहार